न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राशन ढोनेवाले ट्रकों को चुनाव कार्य से रखें मुक्त, धान खरीद की प्रक्रिया में लायें तेजी: सरयू राय

धान खरीद की मात्रा अब तक है संतोषजनक, 86 फीसदी किसानों को 266.17 करोड़ रुपये का हो चुका है भुगतान

245

Ranchi: खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय ने कहा है कि लोकसभा चुनाव की अवधि के दौरान राज्य में राशन दुकानों से वितरित होनेवाले चावल, गेहूं, नमक, चीनी आदि सामग्रियों की ढुलाई व्यवस्था में व्यवधान नहीं हो. इसके लिए राशन ढोनेवाले ट्रकों को मुक्त रखा जाये. साथ ही धान की ख़रीद प्रक्रिया, जो इस 31 मार्च तक ही चलनेवाली है, इसमें तेजी लायें. जो भी किसान जितना भी धान क्रय केंद्र पर लाये उसे खरीदने के साथ बोनस सहित उसका भुगतान एक सप्ताह के अंदर करें. खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय ने मंगलवार को अपने कार्यालय में विभागीय सचिव और निदेशक के साथ बैठक की. उन्होंने कहा कि जून तक के लिए नमक, चीनी ख़रीद की व्यवस्था आचार संहिता लगने के पहले ही कर ली गई है. चावल, गेहूं के साथ ही इसका वितरण सुनिश्चित करना है.

इसे भी पढ़ें – व्यवसायी से लूट मामले में कुख्यात डब्लू सिंह गिरोह का गुर्गा गिरफ्तार

JMM

16.33 लाख क्विंटल हो चुकी है धान की खरीद

मंत्री ने कहा कि धान की ख़रीद की मात्रा अभी तक संतोषजनक है. पिछले साल 31 मार्च तक 16 लाख 33 हज़ार 416 क्विंटल धान की ख़रीद हुई थी. इस वर्ष अब तक 16 लाख 33 हज़ार 218 क्विंटल धान की ख़रीद हो चुकी है. 86 प्रतिशत किसानों को 1900 रु प्रति क्विंटल की दर से 266 करोड़ 17 लाख रुपये का भुगतान हो चुका है. धान बेचनेवाले सभी किसानों का भुगतान समय पर हो जाये. विभाग द्वारा जमा किये गये 30 करोड़ अविलंब ट्रेज़री से निकालने का आदेश दिया. इसके लिए वित्त सचिव से कहा गया है.

इसे भी पढ़ें – आदिवासी सवालों को लेकर 25 मार्च को रांची में होगी जयस की महारैली

किसान 31 मार्च से पहले बेचें धान

लोक सभा चुनाव के कारण धान ख़रीद की समय सीमा में एक माह की वृद्धि नहीं होगी. इसलिए किसानों को 31 मार्च 2019 के पहले धान बेच देना होगा. होली के बाद मार्च महीना के अंतिम सप्ताह में धान ख़रीद में तेज़ी आने की संभावना के मद्देनज़र ख़रीद करनेवाले सरकारी तंत्र को अधिक सक्रिय बनाने का निर्देश विभागीय सचिव और निदेशक को दिया. उन्होंने कहा कि सरकार ने विभाग के छोटे-बड़े सभी अफसरों की सेवा चुनाव कार्य के लिए चुनाव आयोग को सौंप दिया है. इसके बावजूद किसानों से धान ख़रीदने और उन्हें भुगतान करने तथा राशन वितरण का कार्य करने की व्यवस्था बनाने और चलाने की चुनौती विभाग ने स्वीकार की है.

Bharat Electronics 10 Dec 2019

इसे भी पढ़ें – नाबालिग लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म कर हत्या करने के मामले में पुलिस ने चार आरोपियों को किया गिरफ्तार

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like