न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मोदी सरकार में अर्थव्यवस्था की लंबी छलांग , अप्रैल-जून तिमाही में GDP ग्रोथ रेट 8.2 प्रतिशत

भारतीय अर्थव्यवस्था का आकार 31.18 लाख करोड़ (वित्तीय वर्ष 2017-18 की पहली तिमाही) से बढ़कर 33.74 लाख करोड़ (वित्तीय वर्ष 2018-19 की पहली तिमाही) हो गया है.

374

NewDelhi : वित्त वर्ष 2018 की जून तिमाही में ग्रोथ के मोर्चे पर लंबी छलांग लगायी है. जारी किये गये नये आंकड़ों के अनुसार तिमाही आधार पर भारत की जीडीपी ग्रोथ अप्रैल-जून की तिमाही में 7.7 प्रतिशत से बढ़कर 8.2 प्रतिशत रही है. प्रधानमंत्री मोदी के चार साल से कुछ महीने ज्यादा के शासनकाल में पहली बार जीडीपी विकास दर 8 प्रतिशत के पार पहुंची है. साथ ही भारतीय अर्थव्यवस्था का आकार 31.18 लाख करोड़ (वित्तीय वर्ष 2017-18 की पहली तिमाही) से बढ़कर 33.74 लाख करोड़ (वित्तीय वर्ष 2018-19 की पहली तिमाही) हो गया है. इसके अलावा जीवीए ग्रोथ 5.6 प्रतिशत से बढ़कर 8 प्रतिशत  रही है.

इसे भी पढ़ें ब्रिटेन को पीछे छोड़ पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जायेगा भारत :  जेटली  

एसबीआई का जीडीपी ग्रोथ रेट अप्रैल-जून तिमाही में 7.7 प्रतिशत रहने का अनुमान था

तिमाही दर तिमाही आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में कृषि क्षेत्र की ग्रोथ 4.5 प्रतिशत से बढ़कर 5.3 प्रतिशत रही है. इसी आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की ग्रोथ 9.1 प्रतिशत बढ़कर 13.5 फीसदी रही है. अप्रैल-जून तिमाही में कंस्ट्रक्शन ग्रोथ 11.5 प्रतिशत से घटकर 8.7 प्रतिशत रही है. हालांकि जून तिमाही में इलेक्ट्रिसिटी, माइनिंग, ट्रेड ट्रांसपोर्ट में भी गिरावट दर्ज की गयी है. तिमाही आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में इलेक्ट्रिसिटी ग्रोथ 7.7 प्रतिशत से घटकर 7.3 प्रतिशत, माइनिंग ग्रोथ 2.7 प्रतिशत से घटकर 0.1 प्रतिशत और ट्रेड ट्रांसपोर्ट ग्रोथ 6.8 प्रतिशत घटकर 6.7 प्रतिशत रही है.

Related Posts

#SaudiAramco बनी विश्व की नंबर वन कंपनी, बाजार पूंजीकरण 142 लाख करोड़ रुपये पहुंचा,  सऊदी अरब की जीडीपी से ढाई गुना ज्यादा  

142 लाख करोड़ रुपये का यह आंकड़ा सऊदी अरब की जीडीपी से ढाई गुना ज्यादा है. सऊदी अरब की जीडीपी 779.29 अरब डॉलर है.

JMM

इससे पूर्व भारतीय स्टेट बैंक ने भी अपने आर्थिक शोध विभाग की ईको रिपोर्ट में (जीडीपी) की वृद्धि दर अप्रैल-जून तिमाही में 7.7 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया था. एसबीआई ने अपने बयान में कहा था कि सीमेंट उत्पादन में तेजी, वाहनों की बिक्री और बैंकों द्वारा दिये जानेवाले कर्ज में तेजी आने से अर्थव्यवस्था में तेजी आयी है.

इसे भी पढ़ें- भाजपा के पूर्व सांसद अजय मारू ने फर्जी तरीके से खरीदी जमीन : विधानसभा उपसमिति

Bharat Electronics 10 Dec 2019

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like