न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#Maharashtra: अमित शाह ने तोड़ी चुप्पी, कहा- शिवसेना की मांग मंजूर नहीं, राज्यपाल ने दिया पर्याप्त समय

252

New Delhi: भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने महाराष्ट्र से सियासी संकट पर पहली बार प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा कि पार्टी को शिवसेना की मांग मंजूर नहीं है.

श्री शाह ने खुल कर बताया कि कई बार मैं और पीएम नरेंद्र मोदी सार्वजनिक तौर पर कह चुके थे कि अगर हमारा गठबंधन चुनाव जीतेगा तो देवेंद्र फडणवीस सीएम होंगे. उन्होंने कहा कि उस समय किसी ने इसका विरोध नहीं किया था. अब वे नयी मांग के साथ सामने आये हैं, जिसे स्वीकार नहीं किया जा सकता है.

JMM

इसे भी पढ़ें – #BJP: 10 सीटिंग MLA के कटे टिकट जिसमें पांच ST, तीन SC और एक OBC, जेनरल का टिकट पत्नी को शिफ्ट

राज्यपाल के फैसले का शाह ने किया बचाव

सरकार गठन के लिए  दूसरे दलों को कम समय दिये जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि उन्हें राज्यपाल ने पर्याप्त समय दिया था. उन्होंने कहा कि राज्यपाल ने कुल 18 दिनों का वक्त सरकार गठन के लिए दिया. इतना वक्त कहीं नहीं दिया जाता.

इसे भी पढ़ें – #JharkhandElection  झरिया सीट पर ट्विस्ट, रागिनी सिंह के पति संजीव सिंह को मिली चुनाव लड़ने की अनुमति

Related Posts

#CitizenshipAmendmentBill पर बोले शशि थरूर, भारत का स्तर गिरकर पाकिस्तान का हिन्दुत्व संस्करण  हो जायेगा

नागरिकता संशोधन विधेयक पारित होने का मतलब महात्मा गांधी के विचारों पर मोहम्मद अली जिन्ना के विचारों की जीत होगा.

उन्होंने कहा कि राज्यपाल में सभी पार्टियों को तभी बुलाया जब विधानसभा का कार्यकाल समाप्त हो गया. शिवेसना, कांग्रेस, एनसीपी और न हमने सरकार बनाने का दावा किया. अगर आज भी किसी दल के पास आंकड़ा है तो वो राज्यपाल के पास जा सकता है.

उन्होंने कहा कि जो दावा कर रहे हैं कि उन्हें सरकार बनाने को मौका नहीं मिला उनके पास अब भी मौका है. वे लोग एकत्र होकर राज्यपाल के पास जा सकते हैं औऱ सरकार बनाने का दावा कर सकते हैं.

उन्होंने कहा कि राज्यपाल ने तो अब 6 महीने का समय दे दिया है सरकार बनाने को लेकर. अब जिसके पास संख्या हो वह सरकार बना ले.

शाह ने कहा कि मैं नहीं चाहता कि मध्यावधि चुनाव हो. जब 6 महीने समाप्त होंगे तो राज्यपाल इस पर कानूनी सलाह लेकर आगे बढ़ेंगे.

श्री शाह ने कहा कि राष्ट्रपित शासन लगने से सबसे ज्यादा नुकसान बीजेपी का हुआ है. उन्होंने कहा क कुछ चीजें हम नहीं मान सकते थे. हमने विश्वासघात नहीं किया है. औऱ हमारा संस्कार यह भी नहीं कि बंद कमरे में हुई बातचीत को सार्वजनिक करें.

इसे भी पढ़ें – #Dhanbad : नगर निगम के 13 वार्ड पार्षदों ने की बैठक, लिया निर्णय – भाजपा प्रत्याशी रागिनी सिंह का करेंगे समर्थन

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like