न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जेल में हुई थी मो जलील की मौत, अब परिजनों को पुलिस का जवान दे रहा धमकी

286

Ranchi  : 23 अगस्त को लोअर बाजार थाना क्षेत्र के पत्थलकुदवा (इस्लाम नगर) निवासी मो जलील की 23 अगस्त को जेल में मौत हो गयी थी. मो जलील को मटका खेल का संचालन करने के आरोप में गरिफ्तार किया गया था. मो जलील के परिजनों ने आरोप लगाया है कि पुलिस द्वारा पीट-पीटकर उसकी हत्या की गयी है. परिजन मामले की जांच की मांग कर रहे हैं. अब इस मामले में मृतक मो जलील के परिजनों को धमकाये जाने की खबरें सामने आ रही हैं. विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक, मो जलील के परिजनों को उसकी मौत के मामले की जांच की मांग नहीं करने के लिए रांची पुलिस के जवान द्वारा लगातार धमकी दी जा रही है. रांची पुलिस के एक जवान द्वारा मृतक के परिजन पर मामले को रफा-दफा करने का भी दबाव बनाया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें- कांवरियों के वेश में महिलाओं से चेन छीनने वाले दो उचक्‍के पकड़े गये

धमकी से डरे हुए हैं परिजन

धमकी मिलने के बाद से मृतक के परिजन काफी डरे हुए हैं. हालांकि, वे धमकी मिलने के मामले में कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हो रहे हैं, लेकिन विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक, मृतक मो जलील के परिजनों को रांची पुलिस के जवान द्वारा धमका कर इतना ज्यादा डरा दिया गया है कि वे इस पूरे मामले में खामोश रहना ही मुनासिब समझ रहे हैं.

इसे भी पढ़ें- रंजीत सिंह हत्या मामला : SSP की बर्खास्तगी की मांग को लेकर JVM ने CM का फूंका पुतला

क्या है मामला

मो जलील को 21 अगस्त को मटका खिलाने के आरोप में लोअर बाजार थाना क्षेत्र से गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था. रांची के बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा में बंद विचाराधीन कैदी मो जलील (पिता स्वर्गीय नजीब, पत्थलकुदवा निवासी) को 23 अगस्त को जेल से रिम्स ले जाया जा रहा था, जिस दौरान उसकी मौत हो गयी थी. मो जलील की मौत की जानकारी उनके परिजनों को देर शाम पुलिस द्वारा दी गयी थी. परिजनों का आरोप है कि जेल प्रशासन द्वारा भेजे गये नोटिस में मो जलील की मृत्यु का समय दिन के 11:00 बजे दिखाया गया है, लेकिन परिजनों को देर शाम मौत की जानकारी दी गयी. मृतक के परिजनों का आरोप है कि पूरी घटना को लेकर जेल प्रशासन द्वारा लीपापोती का प्रयास किया गया है. साथ ही, परिजनों ने आरोप लगाया है कि जेल में मो जलील की मारपीट कर हत्या की गयी है, जिसकी जांच होनी चाहिए. वहीं, पोस्टमॉर्टम मजिस्ट्रेट की निगरानी में कराने की भी मांग की गयी थी. शुक्रवार (24 अगस्त) को मो जलील के शव का रिम्स में पोस्टमॉर्टम किया गया था. मृतक मो जलील के दो बेटे और दो बेटियां हैं. यह परिवार बहुत ही गरीब है. ऐसे में मामले को रफा-दफा करने के लिए रांची पुलिस के जवान द्वारा धमकी दिये जाने के बाद से यह परिवार काफी डरा-सहमा हुआ है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like