न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पर्रिकर के अंतिम दर्शन के लिए मोदी-शाह जाएंगे गोवा, आज शाम होगा अंतिम संस्कार

पर्रिकर को अंतिम विदाई

72

Panaji : गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए रखा जाएगा. मनोहर पर्रिकर की अंतिम यात्रा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के अलावा कई केंद्रीय मंत्री और कई राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल होंगे. गौरतलब है कि पर्रिकर का रविवार को उनके निजी आवास पर निधन हो गया. वह 63 वर्ष के थे. उनका अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ सोमवार को शाम में किया जाएगा. चार बार के मुख्यमंत्री और पूर्व रक्षा मंत्री पर्रिकर फरवरी 2018 से ही अग्नाशय के कैंसर से जूझ रहे थे.

इसे भी पढ़ें- पर्रिकर के निधन के बाद गोवा की राजनीति में हलचलः सीएम का नाम अबतक तय नहीं

पर्रिकर को अंतिम विदाई

पर्रिकर का पार्थिव शरीर सोमवार को सुबह साढ़े नौ से साढ़े दस बजे तक भाजपा मुख्यालय में रखा जाएगा. उसके बाद पार्थिव शरीर को कला अकादमी ले जाया जाएगा. उसके बाद पर्रिकर का पार्थिव शरीर कला अकादमी में आम लोगों के लिए रखा जाएगा. लोग पर्रिकर के अंतिम दर्शन कर उन्हें श्रद्धांजलि दे सकेंगे. पर्रिकर की अंतिम यात्रा शाम चार बजे शुरू होगी. उनकी अंतिम संस्कार शाम करीब पांच बजे मिरामर में किया जाएगा. गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने उनके निधन पर सोमवार को राष्ट्रीय शोक की घोषणा की है. इस दौरान राष्ट्रीय राजधानी, केंद्र शासित प्रदेशों और राज्य की राजधानियों में राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा.

Trade Friends

इसे भी पढ़ें- गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का निधन, पणजी में बेटे के घर में ली अंतिम सांस

ऐसा था पर्रिकर का व्यक्तित्व

मनोहर पर्रिकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक के तौर पर करियर की  शुरुआत की थी. यहां तक कि आईआईटी बंबई से स्नातक करने के बाद भी वह संघ से जुड़े रहे. सक्रिय राजनीति में पर्रिकर का पदार्पण 1994 में पणजी सीट से भाजपा टिकट पर चुनाव जीतने के साथ हुआ. वह 2014 से 2017 तक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कैबिनेट में रक्षा मंत्री रहे व गोवा के मुख्यमंत्री बने. पर्रिकर की छवि हमेशा ही बहुत सरल और सामान्य व्यक्ति की रही. वह सर्वस्वीकार्य नेता थे. ना सिर्फ भाजपा बल्कि दूसरे दलों के लोग भी उनका मान-सम्मान करते थे. उन्होंने गोवा में भाजपा को मजबूत आधार प्रदान किया. लंबे समय तक कांग्रेस का गढ़ रहने वाले गोवा में क्षेत्रीय संगठनों की पकड़ के बावजूद भाजपा उनके कारण मजबूत हुई.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like