न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

‘कॉल ड्रॉप’ से परेशान प्रधानमंत्री, जानिए कब और कहां होती है पीएम मोदी को परेशानी

152

New Delhi:  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन दिनों ‘कॉल ड्राप’ से परेशान हैं. जानकारी के अनुसार दिल्ली एयरपोर्ट से पीएम आवास जाते समय उन्‍हें ‘कॉल ड्रॉप’ की समस्‍या का सामना करना पड़ा. अपनी इस परेशानी को पीएम मोदी ने संबंधित टेलीकॉम कंपनी के अधिकारियों के साथ शेयर किया है. साथ ही टेलीकॉम डिपार्टमेंट को निर्देश दिया है कि वह इस समस्या का तकनीकी समाधान निकाले और मोबाइल ऑपरेटरों से यह सुनिश्चित करें कि वे ग्राहकों को पूर्ण रूप से संतुष्ट करें.

इसे भी पढ़ें: कॉल ड्रॉप : खराब सेवा के लिए जुर्माना दोगुना

JMM

कब और कहां होती है पीएम मोदी को ‘कॉल ड्रॉप’ की समस्‍या

  • दिल्‍ली एयर पोर्ट में लैंड करते ही कॉल ड्रॉप की समस्‍या
  • एयर पोर्ट से पीएम आवास के बीच रास्‍ते में भी होती है परेशानी
  • पीएम अधिकारियों के साथ लॉनलाइन बात करते हैं तो होती है नेटवर्क की परेशानी
  • पीएम मोदी ने कहा- ‘कॉल ड्रॉप’ बन चुकी है राष्‍ट्रीय समस्‍या

इसे भी पढ़ें: दूरसंचार बुनियादी ढांचे, आवाज की गुणवत्ता में सुधार हो : रविशंकर प्रसाद

पीएम ने टेलीकॉप सेक्रेटरी से पूछा ‘टेलीकॉम ऑपरेटरों से कितना जुर्माना वसूला’

Related Posts

#Gujarat : पर्यटकों के मामले में स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी से आगे निकली स्टेच्यू ऑफ यूनिटी

अनावरण के सालभर बाद ही स्टेच्यू ऑफ यूनिटी को रोजाना देखने आने वाले पर्यटकों की संख्या अमेरिका के 133 साल पुराने स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी  के पर्यटकों से ज्यादा हो गयी है.

जानकारी के अनुसार पीएम मोदी ने टेलीकॉम सेक्रटरी से यह भी पूछा कि कॉल ड्रॉप्स के लिए टेलीकॉम ऑपरेटरों से कितना फाइन या जुर्माना वसूला गया. सुंदराजन ने कथिततौर पर बताया कि प्रति तीन कॉल ड्रॉप पर एक रुपये चार्ज करने का प्रस्तावित कानून लागू नहीं हो पाया और टेलीकॉम नियामक ने क्वॉलिटी ऑफ सर्विसेज मानदंड रखे, जिसमें सर्विसेज ठीक न होने पर ज्यादा जुर्माने का प्रावधान है.

खराब सर्विसेज के लिए मोबाइल ऑपरेटरों से जुर्माना वसूलने पर सेक्रटरी ने बताया कि मंत्रालय ने इस पर कोई डीटेल्स नहीं दिया है. पीएमओ द्वारा जारी आधिकारिक बयान में कहा गया, ‘पीएम ने कहा कि टेलीकॉम सेक्टर से जुड़ी समस्याओं का समाधान आधुनिक तकनीक पर आधारित होना चाहिए. उन्होंने जोर दिया कि सर्विस प्रोवाइडरों को ग्राहकों को पूरी तरह से संतुष्ट करना चाहिए.’

इसे भी पढ़ें: ‘गरीब Data खाएगा या आटा’

राष्‍ट्रीय समस्‍या बन चुकी है ‘कॉल ड्रॉप’, तत्‍काल समाधान निकालें

अधिकारियों ने बताया कि प्रधानमंत्री ने बॉर्डर के इलाकों में मोबाइल फोन नेटवर्क संबंधी मसलों का भी समाधान निकालने के लिए टेलीकॉम मिनिस्ट्री को कहा है, जिससे दुश्मन भारत विरोधी अपने अजेंडे के लिए इसका इस्तेमाल न कर सकें. प्रधानमंत्री अपने टॉप सचिवों के साथ हर महीने वेब-बेस्ड संवाद करते हैं. इस दौरान टेलीकॉम सेक्रटरी अरुण सुंदराजन ने विभाग को मिली कॉल ड्रॉप समेत ग्राहकों की शिकायतों के बारे में जानकारी दी. प्रधानमंत्री ने इसके बाद ही यह टिप्पणी की. एक अधिकारी ने कहा कि मोदी ने जिक्र किया कि कैसे लोग दिल्ली एयरपोर्ट पर उतरने के बाद लगातार कॉल करने की कोशिश करते देखे जाते हैं और कैसे कॉल ड्रॉप अब एक राष्ट्रीय समस्या बन चुका है. अधिकारी ने बताया, ‘पीएम ने कहा कि परेशान ग्राहकों की समस्या को दूर करने के लिए तत्काल समाधान करने की जरूरत है.’

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like