न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

‘तमन्ना’ के माध्यम से एनसीईआरटी व सीबीएसई दिखायेंगे करियर की राह

258

Ranchi: ट्राइ एंड मेजर एप्टीट्यूट एंड नचुरल एबिलिटी यानी तमन्ना की शुरुआत सीबीएसई एंड एनसीईआरटी ने की है. यह एक एप्टीट्यूड टेस्ट डिजाइन है.

इस टेस्ट की मदद से अब 10वीं और 12 वीं के विद्यार्थियों को करियर चुनने और विषय चुनने में सीबीएसइ मदद करेगा. सीबीएसई के मुताबिक अक्सर इस दौर के स्टूडेंट्स करियर के चुनाव को लेकर कंफ्यूज रहते हैं.

JMM

एक तो उनको करियर के विभिन्न विकल्पों का पता नहीं होता. दूसरी ओर वह यह भी तय नहीं कर पाते हैं कि उनके हिसाब से करियर का बेहतर विकल्प क्या होगा.

इसे भी पढ़ें – #Bokaro: पूर्व विधायक माधव लाल सिंह ने किया निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान

शिक्षक-अभिभावक कर रहे स्वागत

करियर व विषय चयन में 10वीं और 12वीं पर विशेष ध्यान दिया जाता है. ऐसे में नौवीं और दसवीं क्लास के छात्रों के लिए ‘तमन्ना’ के नाम से एक एप्टीट्यूड टेस्ट डिजाइन किया गया है.

Bharat Electronics 10 Dec 2019

गौरतलब हो कि अब तक निजी संस्थानों द्वारा ही इस तरह के एप्टीट्यूड टेस्ट आयोजित किये जाते हैं, जिसमें छात्रों से भारी चार्ज वसूले जाते हैं. यह सरकारी स्कूलों के लिए महंगे पड़ते हैं.

अब सीबीएसई और एनसीईआरटी द्वारा तमन्ना के लांच होने से सरकारी स्कूलों के शिक्षक और अभिभावक स्वागत कर रहे हैं. जल्द ही टेस्ट का ऑनलाइन वर्जन भी आयेगा.

इसे भी पढ़ें – लीज समाप्त होने के बाद भी जारी है पाकुड़ में पत्थर खनन, बस खनन विभाग की वेबसाइट पर बंद है खदान

पोर्टल में है तमाम जानकारी

इस एप्टीट्यूट टेस्ट के लिए एक वेब पोर्टल तैयार किया गया है. जिसमें इसकी पूरी जानकारी दी गयी है. पोर्टल पर सात एप्टीट्यूट टेस्ट की जानकारी है. जहां लैंग्वेज एप्टीट्यूट, ऑब्सट्रैक्ट रीजनिंग, वर्बल रीजनिंग, मैकैनिकल रीजनिंग, न्यूमेरिकल ऐप्टिट्यूड, स्पैटल ऐप्टिट्यूड और परसेप्चुअल एप्टीट्यूड हैं.

सीबीएसई बोर्ड के मुताबिक सातों एप्टीट्यूट में हाई स्कोर करना संभव नहीं है. ऐसे में अगर किसी छात्र का किसी एप्टीट्यूट में स्कोर कम होता है तो इसका मतलब यह नहीं कि वह आगे किसी काम के लायक नहीं.

इस तरह के छात्रों की खुद को समझने में मदद की जायेगी. उनको स्कूल में अपनी पसंद की गतिविधियों में हिस्सा लेने के लिए प्रोत्साहित किया जायेगा. ऐसे छात्रों के लिए सीबीएसई अलग से प्लानिंग सेशन आयोजित करेगी.

स्टूडेंट्स ही नहीं पैरेंट्स के लिए भी मददगार

सीबीएसई व एनसीईआरटी की ओर से दी गयी जानकारी के मुताबिक यह स्टूडेंट्स का केवल टेस्ट ही नहीं लेगा बल्कि उनके लिए स्किल चुनना सही है या फील्ड यह भी बतायेगा.

वहीं टेस्ट का परिणाम छात्र की शैक्षिक और करियर संबंधित पसंद के संबंध में फैसला लेने में छात्र, अभिभावक और स्कूल का मार्गदर्शन करेगा.

इसे भी पढ़ें – #JammuKashmir : श्रीनगर के भीड़भाड़ वाले बाजार में #Terrorists-attack, ग्रेनेड हमले में एक की मौत, 12 घायल

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like