न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

चर्च कॉम्प्लेक्स, कुमार गर्ल्स हॉस्टल व हरमू रोड स्थित अवैध बिल्डिंग पर निगम मेहरबान! सील करने के निर्देश के बाद भी रिजल्ट जीरो 

रांची नगर निगम की नक्शा शाखा ने पिछले एक वर्ष में तीन ऐसे भवनों का सील करने का निर्देश दिया था, जिसका निर्माण अवैध तरीके से हुआ था.

266

Ranchi :  रांची नगर निगम की नक्शा शाखा ने पिछले एक वर्ष में तीन ऐसे भवनों का सील करने का निर्देश दिया था, जिसका निर्माण अवैध तरीके से हुआ था. निगम के निर्देश के बाद भी इसपर क्या कार्रवाई हुई, उसकी जानकारी मीडिया तक नहीं पहुंची है. इनमें से कुछ भवनों को मेयर ने सील करने का भी निर्देश दिया था. इन अवैध भवनों को सील करने का निगम का निर्देश अभी तक पूरा नहीं हो पाया है. इनमें वैसे अवैध भवन भी शामिल है, जिनका कभी रांची के सांसद संजय सेठ अपने चुनावी प्रचार के लिए उपयोग किया था. इन तीन भवनों में राजधानी का प्रतिष्ठित जीईएल चर्च कम्पलेक्स, कुमार गर्ल्स हॉस्टल सहित हरमू रोड स्थित कार्तिक उरांव चौक के पास नाली का अतिक्रमण कर बनी अवैध बिल्डिंग शामिल है.

एक वर्ष बाद भी कुमार गर्ल्स हॉस्टल पर क्या हुई कार्रवाई, जानकारी नहीं

जून 2018 में निगम से नक्शा पास कराये बगैर बने कुमार गर्ल्स हॉस्टल का मामला काफी तूल पकड़ा था. शिकायत में कहा गया था कि पीस रोड लालपुर स्थित कुमार अपार्टमेंट के ब्लॉक बी के पार्किंग स्थल पर अवैध निर्माण करउसका व्यावसायिक उपयोग किया जा रहा है. निगम के कनीय अभियंता ने भी जांच में पाया कि अपार्टमेंट का ब्लॉक बीजी प्लस थ्री निर्मित है. जबकि पूरे भवन का व्यावसायिक उपयोग कुमार गर्ल्स हॉस्टल के नाम से हो रहा है. इसके बाद भवन के मालिक भरतेंदु कुमार पर अनधिकृत निर्माण (यूसी) का केस दर्ज कर भवन का स्वीकृत नक्शा कोर्ट में पेश करने का निर्देश दिया गया. ऐसा नहीं करने पर भवन को तोड़ने का आदेश दिया गया. बाद में निगम द्वारा बिल्डिंग को सील भी किया गया. लेकिन आगे की कार्रवाई की जानकारी ही नहीं मिल सकी.

JMM

इसे भी पढ़ें : धनबाद : अस्पताल ने आयुष्मान कार्ड वाले इमरजेंसी के मरीज के इलाज से किया इनकार

अवैध बिल्डिंग में खुला चुनावी कार्यालय तो निगम ने बंद की आंखें

इस वर्ष 20 फरवरी को मेयर आशा लकड़ा और डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय ने हरमू रोड स्थित कार्तिक उरांव चौक के पास आवास बोर्ड की जमीन पर बने बहुमंजिला भवन का जायजा लिया था. इस दौरान उन्हें मालूम चला कि भवन के तीसरे तल्ले का निर्माण बिना नक्शा पास किये हुआ है. साथ ही इमली चौक से आने वाले नाली के उपर भवन का निर्माण किया गया है. मेयर ने निगम के अभियंता को खरीखोटी सुनाते हुए अवैध भवन को सील करने का निर्देश दिया था. दो माह बाद भी बिल्डिंग सील नहीं हुई. सबसे बड़ी बात कि मेयर के निर्देश को दरकिनार कर इसी बिल्डिंग में बीजेपी के रांची लोकसभा प्रत्याशी संजय सेठ का चुनाव कार्यालय खोल दिया गया. इसके बाद तो जैसे निगम के अफसरों ने अपनी आंखें बंद कर ली.

इसे भी पढ़ें – रांची, हटिया, धनबाद और सिंदरी के लिए BJP में अभी से लॉबिंग शुरू, कट सकता है सिटिंग MLA का टिकट!

जीईएल चर्च कॉम्प्लेक्स का मामला अधर में

19 जुलाई को निगम की टीम ने राजधानी के बहुचर्चित जीईएल चर्च कॉम्प्लेक्स में चल रहे अवैध निर्माण कार्य पर कार्रवाई करते हुए रोक लगा दी थी. बताया गया कि कॉम्प्लेक्स के ऊपर के तल्ले पर शेड लगाकर अवैध निर्माण काम चल रहा था, जिस पर निगम ने रोक लगा दी. करीब 23 दिन बीत चुके हैं, लेकिन आगे इस पर क्या कार्रवाई हुई, यह भी पता नहीं है.

मामला कोर्ट में, निर्णय आने पर निगम करेगा कार्रवाई :  टाउन प्लानर

निगम के टाउन प्लानर मनोज कुमार का कहना है कि निगम को जैसे ही इन अवैध निर्माण काम की जानकारी मिली, तो फौरन ही इंफोर्समेंट टीम ने कार्रवाई कर काम को रोक दिया. लेकिन उसके बाद मामला कोर्ट में जाने से  कार्रवाई नहीं पायी है. जीईएल चर्च कॉम्प्लेक्स के मालिकों पर पहले से ही अनधिकृत निर्माण का केस चल रहा था. मामला आरआरडीए के ट्रिब्यूनल में लंबित है.  ठीक उसी तरह से अन्य अवैध बिल्डिंग का मामला भी कोर्ट में लंबित है. कार्तिक उरांव चौक के पास बिल्डिंग को लेकर भी निगम ने यूसी केस दर्ज किया है. निगम अपने स्तर पर काम कर रहा है. चार-दिन पहले भी उन्होंने एक बैठक की थी. अब जब कोर्ट में मामला लंबित है, तो उसी के निर्णय अनुरूप निगम कार्रवाई करने की पहल करेगा.

इसे भी पढ़ें – झारखंड में फिर से एक हो सकते हैं भाकपा माओवादी और टीपीसी, हो चुकी हैं टॉप लीडरों की दो बैठकें

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like