न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

निर्मल ह्रदय बना ‘निर्मम’ ह्रदय, विपक्ष ने बना रखा है दुलारा : समीर उरांव

704

Ranchi : हरमू स्थित भाजपा प्रदेश कार्यालय में पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष सह राज्य सभा सांसद समीर उरांव ने शुक्रवार को प्रेसवार्ता की.

उन्होंने कहा कि मिशनरी ऑफ चैरिटी के तहत चलने वाली निर्मल ह्रदय संस्था निर्मम ह्रदय बनी जिसका श्रेय विपक्षी पार्टियों के तथाकथित झारखंडहित की बात करने वाले नेताओं को जाता है.

इन नेताओं के प्रश्रय में ऐसी संस्थाएं फली फूलीं और निर्भीक होकर नवजात बच्चों के खरीदफरोख्त जैसे घिनौने अपराध को अंजाम दिया.

Trade Friends

उन्होंने कहा कि झामुमो, कांग्रेस समेत सारी विपक्षी पार्टियों के नेता निर्मल ह्रदय जा चुके हैं जिससे मिशनरीज ऑफ चैरिटी के तहत चलने वाला निर्मल हृदय आज विपक्षी पार्टियों का दुलारा बन चुका है.

इसे भी पढ़ें : #JharkhandPolice ने HC को सौंपे दागी जनप्रतिनिधियों के ब्योरे में CM, तीन मंत्रियों व सांसद का नाम छिपाया

नाबालिग गर्भवती महिलाओं को आश्रय दिया जाता था

उरांव ने कहा कि 900 से ज्यादा बच्चों की हेराफेरी करने वाली निर्मल ह्रदय संस्था पर न सिर्फ विपक्षी नेता चुप हैं बल्कि मिशनरी की चादर लपेटे चल रही इन आपराधिक संस्थाओं के प्रति सह्रदय भी रहे हैं.

निर्मल ह्रदय पर लगे आरोपों का जिक्र करते हुए उरांव ने कहा कि रेप पीड़ित अविवाहित तथा नाबालिग गर्भवती महिलाओं को वहां आश्रय दिया जाता था एवं रेप पीड़ित की जानकारी पुलिस को नहीं दी जाती थी.

प्रसव के बाद बच्चों को रखकर मां को वापस लौटा दिया जाता था. उन्होंने बताया कि 900 से ज्यादा नवजात बच्चों का व्यापार बच्चों की सुरक्षा और अधिकार के नियमों की अनदेखी करते हुए किया गया.

वोटबैंक ने विपक्षी पार्टियों को इतना मजबूर कर रखा है कि उन्हें नवजात और अबोध बच्चों की खरीदफरोख्त भी जायज लगने लगी.

इसे भी पढ़ें : #EconomicSlowDown : टाटा मोटर्स में जारी रहेगा ब्लॉक क्लोजर, टाटा स्टील से 16 कर्मियों की होगी छुट्टी

गोद लेने संबंधी नियमों को ताक पर रखा

अनाथ या छोड़े गये बच्चों के गोद लेने संबंधी नियमों का हवाला देते हुए सांसद ने बताया कि अनाथ बच्चों को तभी कानूनी तौर पर गोद देने लायक माना जाता है जब बच्चे के जन्म या बच्चा मिलने के 24 घंटे में बाल कल्याण समिति के पास रिपोर्ट की जाये.

उन्होंने कहा कि सारे नियमों को ताक पर रखकर निर्मल ह्रदय ने बाल व्यापार जैसे घिनौने कार्य को अंजाम दिया. उन्होंने विपक्षी नेताओं पर मिशनरी धर्मगुरुओं के तुष्टिकरण का आरोप लगाते हुए कहा कि हेमंत, बाबूलाल बतायें कि निर्मल ह्रदय के नाम पर मिशनरी धर्मगुरुओं ने क्या सेवा की है.

SGJ Jewellers

हेमंत को नहीं दिखते मिशनरियों के पाप

उन्होंने कहा कि निर्मल ह्रदय जैसे मिशनरी संस्थाओं के पाप क्यूं नहीं दिखते हैं हेमंत को.  हेमंत की चुप्पी मिशनरी धर्मगुरुओं के तुष्टिकरण की मजबूरी स्वतः बयान करती है.

उन्होंने कहा कि अब वोटबैंक ने विपक्षी पार्टियों को इतना मजबूर कर रखा है कि उन्हें नवजात और अबोध बच्चों की खरीदफरोख्त भी जायज लगने लगी है.

kanak_mandir

इसे भी पढ़ें : पलामूः टीकाकरण के लिए मेडिकल काॅलेज अस्पताल में की जा रही अवैध वूसली, वीडियो वायरल

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like