न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नहीं रहे वरिष्ठ पत्रकार कुलदीप नैयर, 95 साल की उम्र में हुआ निधन

वरिष्ठ पत्रकार के 14 भाषाओं में छपते थे कॉलम

510

NewDelhi: वरिष्ठ पत्रकार कुलदीप नैयर का बुधवार देर रात निधन हो गया. 95 साल के कुलदीप नैयर ने के नई दिल्ली के एक एक निजी अस्पताल में आखिरी सांसें ली. वरिष्ठ पत्रकार, लेखक और स्तंभकार कुलदीप नैयर पत्रकारिता जगत में कई सालों तक सक्रिय रहने के साथ राज्यसभा सांसद भी रह चुके हैं. वरिष्ठ पत्रकार नैयर अपने लेखन के अलावा विश्वशांति हेतु अपनी सक्रियता के लिए भी जाने जाते हैं. वे एक मानवाधिकार कार्यकर्ता और शांति कार्यकर्ता भी थे.

इसे भी पढ़ेंः जब मैंने मोदी को गले लगाया तो मेरी ही पार्टी के कुछ सदस्यों को पसंद नहीं आया: राहुल

पत्रकारिता और साहित्य में रहा बड़ा योगदान

Trade Friends

कुलदीप नैयर भारत सरकार के प्रेस सूचना अधिकारी के पद पर कई सालों तक कार्य किया. इसके बाद वो समाचार एजेंसी यूएनआई, पीआईबी, ‘द स्टैट्समैन’, ‘इंडियन एक्सप्रेस’ के साथ लंबे समय तक जुड़े रहे. पच्चीस सालों तक वो ‘द टाइम्स’ लंदन के संवाददाता भी रहे. आपातकाल में नैयर- उन्हें 1975 से 77 में लगी इमरजेंसी को लेकर भी जाना जाता है. इस दौरान प्रशासन की ज्यादतियों के खिलाफ उन्होंने विरोध प्रदर्शन कर रहे समूह का नेतृत्व किया. आंतरिक सुरक्षा अधिनियम (मीसा) के तहत वे जेल भी गए. उन दिनों, आपातकाल के समय वे उर्दू प्रेस रिपोर्टर थे.

इसे भी पढ़ेंः गिरिडीह लोकसभाः 2500 परिवारों से रोजगार छिन गया, मजदूरों के साथ भी हुआ अन्याय, पार्टी कार्यकर्ता भी हुए नाराज

संयुक्त राष्ट्र के लिए भारत के प्रतिनिधिमंडल सदस्य रहे

पत्रकारिता क्षेत्र में काम करने के साथ कुलदीप नैयर 1996 में संयुक्त राष्ट्र के लिए भारत के प्रतिनिधिमंडल सदस्य थे. 1990 में उन्हें ग्रेट ब्रिटेन में उच्चायुक्त नियुक्त किया गया और अगस्त 1997 में राज्यसभा में नामांकित किया गया.

इसे भी पढ़ेंः हेहल अंचल में 113.38 एकड़ गैरमजरुआ जमीन का घोटला, अधिकारियों की मिली भगत से हुआ खेल

साहित्य के क्षेत्र में भी उनका बड़ा योगदान रहा. उन्होंने कई किताबें भी लिखी हैं, जिसमें बिटवीन द लाइन्स, डिस्टेंट नेवर: ए टेल ऑफ द सब कॉन्टीनेंट, वॉल एट वाघा, इंडिया पाकिस्तान रिलेशनशिप आदि शामिल है. साथ ही 80 से अधिक समाचार पत्रों के लिए 14 भाषाओं में कॉलम और ओप-एड लिखते रहे.

कई अवार्ड से हुए सम्मानित

वरिष्ठ पत्रकार नैयर को नॉर्थवेस्ट यूनिवर्सिटी की ओर से ‘एल्यूमिनी मेरिट अवार्ड’ (1999), रामनाथ गोयनका लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड, सिविक पत्रकारिता के लिए प्रकाश कार्डले मेमोरियल अवार्ड (2014), सिविक पत्रकारिता के लिए प्रकाश कार्डले मेमोरियल अवार्ड (2013) से भी सम्मानित किया गया था.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like