न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बीजेपी ही नहीं विपक्षी विधायक भी मान रहे कि विधानसभा चुनाव की तैयारी में सुस्त है पार्टी

2,551

Akshay Kumar Jha

Ranchi: झारखंड विधानसभा चुनाव में अब करीब दो महीने ही बचे हैं. लेकिन बीजेपी को छोड़ दिया जाए तो चुनावी सरगर्मी दूसरी पार्टियों में वैसी नहीं दिख रही है. सरकार से लेकर पार्टी तक पूरी तरह से चुनावी माहौल में रंगा दिख रहा है. बीजेपी के बड़े नेताओं का झारखंड दौरा शुरू हो गया है. पीएम मोदी की भी दौरा सिंतबर में लगने वाला है.

Trade Friends

इसके उलट विपक्ष की बात करें तो जेएमएम की तरफ से बदलाव रैली को छोड़कर बाकी ऐसा कुछ नहीं हो रहा है. जिससे यह कहा जा सके कि चुनाव में जोरदार टक्कर होने वाली है. एक ऐसा समीकरण बनता दिख रहा है, जिससे साफ होता जा रहा है कि चुनाव से पहले ही विपक्षी पार्टी सरेंडर मोड में जा रही हो.

विपक्षी पार्टी के कार्यकर्ता से लेकर मौजूदा विधायक और उम्मीदवार तक हताश दिख रहे हैं. विपक्ष के ऐसे रुख को लेकर न्यूज विंग ने कुछ मौजूदा विधायकों और उम्मीदवारों से बात की. नाम नहीं छापने की शर्त पर विधायकों ने जो बात की, उससे निराशा और हताशा झलक रही है.

इसे भी पढ़ें – सीएम रघुवर दास का कुपोषण मुक्त अभियान और बच्चों का अंडा व आंगनबाड़ी सेविका

उम्मीदवार जोर लगा रहे, लेकिन पार्टी को जो करना चाहिए नहीं हो रहाः जेएमएम विधायक

जेएमएम के एक मौजूदा विधायक ने कहा कि निश्चित तौर पर उम्मीदवार अपनी तरफ से थोड़ी-बहुत मेहनत कर रहा है. लेकिन जिस तरह से पार्टी को इस वक्त काम करना चाहिए था, वो नहीं हो रहा है. किसी तरह की कोई रणनीति ही तैयार नहीं दिख रही है. बस लग रहा है कि चुनाव लड़ना है.

लेकिन किस तरह लड़ना है, इसपर कोई काम नहीं हो रहा है. मुद्दे कई हैं. उन मुद्दों को एक रणनीति के तहत भुनाने की जरूरत है. लेकिन ऐसा हो नहीं पा रहा है. बहुत सारी चीजें हैं दिमाग में लेकिन किया कैसे जाए. उसके लिए तरीका नहीं निकल पा रहा है. आप जान रहे हैं कि लड़ाई किससे है. जिसने लड़ना है, वो काफी मजबूत है.

बावजूद इसके तैयारी ना के बराबर ही कह सकते हैं. अब काफी देर हो चुकी है. जितना भी धक्का दिया जाए, अब स्पीड पकड़ना मुश्किल है. बीजेपी ने अभी अपना शुरू कहां किया है. अचानक से पार्टी बमबार्डिंग करना शुरू करेगी. जिसमें विपक्षा की पार्टी कहां रह जाएगी आप सोच नहीं सकते हैं.

एक बार सत्र खत्म होने दीजिए 12 तारीख वाला. फिर शुरू हो जाएगा बीजेपी का असली चुनावी खेल. कांग्रेस का हाल किसी से छिपा नहीं है. वो पार्टी की अंदर के कलह से जूझ रही है. इसलिए जेएमएम को अपनी सीट घोषित कर उम्मीदवार को तैयार रहने को कह दिया जाना चाहिए.

इसे भी पढ़ें – 600 रुपये की करीब 5 लाख साड़ियां, लागत 30 करोड़, वही कंपनी करेगी सप्लाई जिसका टर्न ओवर 1000 करोड़ 

WH MART 1

समय कम है, अब नहीं तो आखिर कबः जेएमएम विधायक

एक दूसरे जेएमएम के मौजूदा विधायक का कहना है कि ऐसा नहीं है कि हम झारखंड में मजबूत नहीं हो सकते हैं. पिछली बार भी मोदी लहर के बावजूद जेएमएम ने झारखंड में अच्छा किया था. इस बार भी हो सकता है. लेकिन समय नहीं है.

अब नहीं शुरू होंगे तो कब शुरू होंगे. चुनावी घोषणा के बाद अचानक से गियर बदलने में भी दिक्कत होगी. इन सारी बातों को ध्यान में रखना चाहिए.

इसे भी पढ़ें – राज्य के सरकारी अस्पतालों में नहीं मिल रहा टेटनेस वैक्सीन, सात महीनों से बाधित है सप्लाई

उम्मीदवार गठबंधन को लेकर असमंजस में हैः संभावित उममीदवार

जेएमएम से एक संभावित उम्मीदवार ने कहा कि आखिर कैसे चुनाव की तैयारी करें. अब तक तो गठबंधन होकर सीट की घोषणा हो जानी चाहिए थी. ताकि हम भी अपनी तैयारी में जुटते. क्षेत्र में कार्यकर्ताओं का हौसला पस्त है. जबकि जेएमएम की ताकत उसके कार्यकर्ता ही हुआ करते हैं. उम्मीदवारों की घोषणा होती तो कार्यकर्ता चुनावी तैयारी में लगते.

बूथ लेवल पर कुछ नहीं हो पाया है. लोकसभा चुनाव में हार को देखते हुए. बूथ लेवल पर काम शुरू कर दिया जाना चाहिए था. लेकिन ऐसा कोई भी काम होता नहीं दिखायी दे रहा है. लोकसभा चुनाव के बाद पार्टी जितनी डैमेज हुई, उसे भी कंट्रोल नहीं किया गया है.

ग्रास रूट पर चुनाव को लेकर कोई हलचल ही नहीं है. एक बदलाव रैली हो रही है. जो थोड़ा बहुत काम करेगी. लेकिन आपको चुनाव में जाने के लिए उम्मीदवारों को तैयार कर दिया जाना चाहिए था.

इसे भी पढ़ें – खस्ताहाल इकोनॉमीः आंकड़ों की हकीकत से मुंह छिपाकर खुद को ही छलने की कोशिश कर रही है सरकार

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like