न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

NRHM अनुबंध कर्मचारी हड़ताल पर, राज्य में सरकारी स्वास्थ्य व्यवस्था चरमराई

NRHM के अंतर्गत कार्यरत सभी अनुबंध कर्मियों के स्थायीकरण के मांग को लेकर शनिवार को राज्य के सभी जिलों से हड़ताल की सूचना मिली. 

73

Dumka  : राज्य भर के NRHM कर्मचारियों के द्वारा हड़ताल पर चले जाने से सरकारी स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा गयी है. NRHM के अंतर्गत कार्यरत सभी अनुबंध कर्मियों के स्थायीकरण के मांग को लेकर शनिवार को राज्य के सभी जिलों से हड़ताल की सूचना मिली.   झारखंड राज्य NRHM अनुबंध कर्मचारी संघ के आह्वान पर दुमका के सभी स्वस्थ्य संस्थानों में कार्यरत सभी NRHM अनुबंध कर्मचारी  हड़ताल पर रहे.

इस अवसर में सभी NRHM अनुबंध कर्मचारियों ने सिविल सर्जन कार्यालय के समक्ष धरना-प्रदर्शन किया. कहा कि युवा NRHM अनुबंध कर्मी अल्पवेतन भोगी  हैं. इस मंहगाई में परिवार का भरण-पोषण करना उनके लिए बहुत कठिन हो गया है.  स्थायी कर्मचारियों की तरह सभी तरह की सुविधाएं उपलब्ध नहीं करायी जाती हैं.

अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी रहेगी

Related Posts

500 मेगावाट के पावर प्लांट को दो माह बाद किया गया लाइटअप, ऐश पौंड के लिए जगह का संकट

सीसीएल की बंद खदानें नहीं मिलीं तो बंद हो सकते हैं बोकारो थर्मल एवं चंद्रपुरा के पावर प्लांट : बीएन साह

Trade Friends

संघ झारखंड सरकार से मांग करता है कि  NRHM के अंतर्गत कार्यरत सभी अनुबंध कर्मियों का स्थायीकरण किया जाये.जो पद सृजित नहीं हैं, उन पदो को सृजित करते हुए सभी NRHM अनुबंध  कर्मियों को स्थायी किया जाये.  हड़ताल के बावजूद सरकार की तरफ से कोई सकारात्मक पहल नही होने के कारण  संघ ने सर्वसम्मति से निर्णय लिया कि  पूरे राज्य में अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी रहेगी.

हड़ताल के  बीच सकारात्मक सोच के साथ सड़क में बिना हेलमेट पहने दो पहिया चालको को फूल देकर हेलमेट पहने के लिय जागरूक किया गया. इस मौके पर राकेश आनंद, राजेस रोजवल मुर्मू,प्रदीप कुमार,कृष्णदेव सिंह, अन्जुश्री चोड़े,सुमित कुमार गुप्ता,सुदीप्त कुमार किस्कू,ज्योतिका सोरेन, प्रभूल कापरी,संतोष आनंद,रामप्ररवेश कुमार,दिनोद कुमार,ज्योति,रंजित कुमार माल, जयंत कुमार,मनोज कुमार पंडित,राजीव लोचन,सलेश कुमार सिन्हा,संजय कुमार,सुमित कुमार चन्दन,दीपक टुडू  सहित काफी संख्या में अनुबंध कर्मी थे.

इसे भी पढ़ें : मैला पिलाने की घटना की जांच को पहुंचीं अधिकारी, पूर्व पार्षद बोले- पीड़ित महिलाओं को समाज से बाहर करना चाहिए

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like