न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#Pakistan : #TalkShow के दौरान  एंकर अपनी राय नहीं दे सकेंगे, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया नियामक ने रोक लगायी

अदालत ने शहबाज शरीफ बनाम सरकार के मामले में विभिन्न टीवी टॉक शो पर संज्ञान लिया, जहां एंकरों ने आचार संहिता का उल्लंघन करते हुए न्यायपालिका और उसके फैसलों की छवि दुर्भावनापूर्ण मंशा से धूमिल करने की कोशिश की.

48

Islamabad :  पाकिस्तान में इलेक्ट्रॉनिक मीडिया नियामक ने टॉक शो  के दौरान टीवी एंकरों के राय देने पर रोक लगा दी है और उनकी भूमिका महज संचालन करने तक सीमित कर दी है. सोमवार को एक मीडिया रिपोर्ट में यह जानकारी दी गयी. डॉन अखबार के अनुसार रविवार को जारी किये गये आदेश में पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया रेगुलेटर अथॉरिटी (पीईएमआरए) ने नियमित शो करने वाले एंकरों को निर्देश दिया कि वे अपने या दूसरे चैनलों के टॉक शो में  विशेषज्ञ की तरह पेश न हो .

पीईएमआरए की आचार संहिता के मुताबिक एंकर की भूमिका कार्यक्रम का संचालन निष्पक्ष, तटस्थ और बिना भेदभाव के करने की है और उन्हें किसी मुद्दे पर व्यक्तिगत राय, पूर्वाग्रहों या फैसला देने से खुद को मुक्त रखना है.

JMM

इसे भी पढ़ें :  #Kerala : सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी #JacobiteFaction ने #OrthodoxFaction को गिरजाघर में घुसने नहीं दिया,  तनाव

एंकरों को  टॉक शो में बतौर विषय विशेषज्ञ पेश नहीं होना चाहिए

खबर में आदेश का हवाला देते हुए कहा गया, इसलिए, नियमित रूप से खास शो का संचालन करने वाले एंकरों को अपने या किसी दूसरे चैनल के टॉक शो में बतौर विषय विशेषज्ञ पेश नहीं होना चाहिए. नियामक निकाय ने मीडिया घरानों को निर्देश दिया कि वे टॉक शो के लिए मेहमानों का चयन बेहद सतर्कता से करें और ऐसा करने के दौरान उस खास विषय पर उनके ज्ञान और विशेषज्ञता को भी ध्यान में रखें.

खबर में कहा गया कि इस्लामाबाद हाईकोर्ट द्वारा 26 अक्टूबर को दिये गये  एक आदेश के बाद सभी सैटेलाइट टीवी चैनलों को यह आदेश जारी किया गया. अदालत ने शहबाज शरीफ बनाम सरकार के मामले में विभिन्न टीवी टॉक शो पर संज्ञान लिया, जहां एंकरों ने आचार संहिता का उल्लंघन करते हुए न्यायपालिका और उसके फैसलों की छवि दुर्भावनापूर्ण मंशा से धूमिल करने की कोशिश की.

Related Posts

#Forbes ने निर्मला सीतारमण को दुनिया की 100 सबसे ताकतवर महिलाओं में शामिल किया

जर्मन चांस्लर एंजेला मर्केल पहले स्थान पर हैं. सीतारमण फोर्ब्स की सूची में पहली बार शामिल हुई हैं और वह 34वें स्थान पर हैं

Bharat Electronics 10 Dec 2019

इसे भी पढ़ें :  #PMModi से मिले 28 #EuropeanCountries के सांसद, 29 अक्टूबर को कश्मीर का दौरा करेंगे

अदालत ने ऐसे उल्लंघनों पर पीईएमआरए द्वारा की गयी  कार्रवाई और सजा पर रिपोर्ट मांगी

इसमें कहा गया कि अदालत ने ऐसे उल्लंघनों पर पीईएमआरए द्वारा की गयी  कार्रवाई और सजा पर रिपोर्ट मांगी. पीईएमआरए ने कहा कि हाईकोर्ट ने इस बात पर भी संज्ञान लिया कि कुछ एंकर/पत्रकारों ने 25 अक्टूबर को कुछ टीवी चैनलों पर कयासों के आधार पर चर्चा की और आरोप लगाया कि पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को 26 अक्टूबर को जमानत देने के संदर्भ में एक कथित डील हुई है .

इसमें कहा गया,ऐसा माना गया कि यह उच्च न्यायालय की छवि और अक्षुण्णता को धूमिल करने और उनके फैसले को विवादित करने का प्रयास है इस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने अल-अजीजिया भ्रष्टाचार मामले में 26 अक्टूबर को मंगलवार को जमानत दे दी थी. शरीफ इस मामले में सात साल कैद की सजा काट रहे थे.

इसे भी पढ़ें : #PMModi के विमान को अपने हवाई क्षेत्र से उड़ान नहीं भरने देगा पाक, भारत ने #ICAO में मुद्दा  उठाया

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like