न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू : प्रत्याशियों के सोशल मीडिया एकाउंट पर रहेगी आयोग की खास नजर, नामांकन के समय देना होगा अकाउंट का ब्यौरा

45

Palamu : लोकसभा चुनाव के दौरान प्रत्याशियों के सोशल मीडिया एकाउंट पर भी चुनाव आयोग की खास नजर रहेगी. इसके लिए सभी प्रत्याशियों को नामांकन के समय अपने-अपने सोशल मीडिया अकाउंट का ब्यौरा जमा करना होगा.

इसे भी पढ़ें : GATE में आईआईटी धनबाद के छात्र शशांक ने किया इंडिया टॉप

मीडिया सर्टिफिकेशन एंड मानिटरिंग कमेटी रखेगी नजर

मीडिया सर्टिफिकेशन एंड मानिटरिंग कमिटी द्वारा प्रत्याशियों के सोशल मीडिया एकाउंट पर बारीकी से नजर रखी जायेगी. इस सिलसिले में सोमवार को जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह उपायुक्त डॉ. शांतनु कुमार अग्रहरि ने राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की और आवश्यक दिशा-निर्देश दिये.

उन्होंने कहा कि कोई भी प्रत्याशी अपने सोशल मीडिया एकाउंट से दूसरी पार्टी या प्रत्याशी पर आक्षेप करता हुआ पाया जायेगा तो वह आदर्श चुनाव आचार संहिता का दोषी होगा और उसके खिलाफ कार्रवाई की जायेगी.

इसे भी पढ़ें : अग्रवाल ब्रदर्स हत्याकांड : आरोपी धर्मेंद्र तिवारी ने कोर्ट में किया सरेंडर

नोमिनेशन के समय जमा करना होगा ब्यौरा

उपायुक्त ने सभी राजनीतिक प्रतिनिधियों को नोमिनेशन के समय अपने सोशल मीडिया का ब्यौरा जमा करने का निर्देश दिया, ताकि चुनाव से संबंधित बनी एमसीएमसी कोषांग द्वारा सभी सोशल मीडिया अकाउंट को बारिकी से मोनिटर किया जा सके.

इसे भी पढ़ें : छात्रा के दोस्त ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर किया था सामूहिक दुष्कर्म

बल्क एसएमएस के लिए लेनी होगी स्वीकृति  

उन्होंने राजनीतिक प्रतिनिधियों को निर्दश दिया कि बल्क एसएमएस को राज्यस्तर पर स्वीकृति लेकर ही इसका प्रयोग कर सकेंगे. इसका उल्लंघन किये जाने की स्थिति में संबंधित व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी.

निर्वाचन 2019 को लेकर छपने वाले पोस्टर और पंपलेट के कंटेंट को राज्यस्तर पर गठित एडवरटाइजिंग स्क्रीनिंग कमेटी से अनुमति लेने का भी प्रावधान किया गया है. इन प्रवाधानों का नहीं माने जाने की स्थिति में आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन माना जायेगा.

इसे भी पढ़ें :असली चौकीदार के समक्ष खाने के लाले, सरकार कर रही नौटंकी: योगेन्द्र प्रताप

बैंकों को दी गयी विशेष रूप से नसीहत

लोकसभा निर्वाचन 2019 को देखते हुए सभी बैंकों को विशेष रूप से नसीहत दी गयी है कि बल्क ट्रांजेक्शन का रिपॉर्ट दैनिक स्तर पर प्रशासन को भेजा जाये. इसके तहत किसी एक बैंक अकाउंट से विभिन्न बैंक अकाउंटो में पैसे ट्रांसफर की स्थिति में भी रिपोर्ट प्रशासन को सौंपना होगा.

सभी राजनीतिक प्रतिनिधियों को एक दिन में दस हजार नकद से ज्यादा खर्च न करने का निर्देश जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने दिया.

इसे भी पढ़ें : व्यवसायी से लूट मामले में कुख्यात डब्लू सिंह गिरोह का गुर्गा गिरफ्तार

सुविधा ऐप का हर हाल में करना होगा इस्तेमाल

राजनीतिक प्रतिनिधियों को उपायुक्त ने सुविधा ऐप के माध्यम से किसी भी तरीके का ऑनलाइन परमीशन मिलने की बात कही. प्रत्याशी-पार्टी को चुनावी सभा करने, लाउडस्पीकर, पार्टी कार्यालय खोलने आदि का भी परमीशन सुविधा पोर्टल से ली जा सकेगी.

लोकसभा चुनाव को लेकर विभिन्न टीमों का गठन प्रशासन द्वारा किया जा चुका है, जो राजनीतिक प्रत्याशी-पार्टी की गतिविधियों पर नजर रखेगा.

इसे भी पढ़ें : फिल्म तकनीकी सलाहकार समिति को भंग कर बनायी गयी फिल्म विकास काउंसिल, मेघनाथ बने अध्यक्ष

पेड न्यूज और सरोगेट न्यूज पर विशेष ध्यान देने का निर्देश

व्यय शाखा कोषांग के नोडल पदाधिकारी राजेश कुमार ने पेड न्यूज और सरोगेट न्यूज के बारे में राजनीतिक प्रतिनिधियों को विशेष ध्यान देने की बात कही. उन्होंने बताया कि इन सभी तरीके के न्यूज, विज्ञापन और सोशल मीडिया अकाउंट्स पर नजर रखने के लिए एमसीएमसी का गठन किया जा चुका है, जो दैनिक रिपोर्ट कार्यालय में जमा करेंगे. बैठक में सहायक जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी श्वेताभ और विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें : आदिवासी सवालों को लेकर 25 मार्च को रांची में होगी जयस की महारैली

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like