न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू : पंचायत के फरमान के बाद आत्महत्या मामले में DSP ने लिया बयान, आरोपियों की खोज में छापामारी तेज

डीएसपी ने मृतक की पत्नी से घटना की पूरी जानकारी ली. साथ ही ग्रामीण संजय प्रजापति, संतोष यादव, रामचन्द्र प्रजापति का भी बयान दर्ज किया.

981

Palamu : कानून का उल्लंघन कर एक परिवार पर आर्थिक और समाजिक दंड लगाने के पंचायत के फरमान पर आत्महत्या मामले में पुलिसिया कार्रवाई तेज कर दी गयी है. डीएसपी सुरजीत कुमार, चैनपुर के पुलिस निरीक्षक के साही और रामगढ़ थाना प्रभारी ने गुरुवार को रामगढ़ थाना क्षेत्र में प्रभावित परिवार और ग्रामीणों के बयान लिये.

डीएसपी ने मृतक की पत्नी से घटना की पूरी जानकारी ली. साथ ही ग्रामीण संजय प्रजापति, संतोष यादव, रामचन्द्र प्रजापति का भी बयान दर्ज किया. सभी लोगों ने गांव में नियमविरुद्ध प्रजापति समाज द्वारा पंचायती करने की जानकारी दी. आर्थिक दंड लगाने और नाबालिग को चरित्रहीन बताने पर उसके पिता द्वारा आत्महत्या किये जाने की जानकारी दी.

Trade Friends

डीएसपी ने कहा कि प्रभावित परिवार को पूरा न्याय मिलेगा. सरकारी मुआवजा के लिए भी प्रयास किया जायेगा. समाजिक तिरस्कार करने और आर्थिक दंड लगाने का अधिकार पंचायत को नहीं है. अगर ऐसी घटना हुई है तो जांच पूरी कर दोषियों पर ठोस कार्रवाई होगी, ताकि ऐसी घटना दोबारा ना हो सके.

इसे भी पढ़ें : बीपीओ समिट- 2019 में बोले रघुवर, पिछले साढ़े 4 वर्ष में नये उद्योग में प्रत्यक्ष रोजगार के रूप में 72,000 लोगों को मिला रोजगार

क्या है पूरा मामला

गौरतलब है कि गत गत रविवार को रामगढ, उलडंडा और एक अन्य गांव के प्रजापति समुदाय के लोगों ने पंचायत बिठायी थी, जिसमें गांव की नाबालिग लड़की को बदचलन करार देते हुए उसके पिता पर 41 हज़ार रुपये का अर्थदंड लगाया था.

गरीबी का हवाला देकर अनुनय-विनय करने पर मामला 11 हजार तक पहुंचा था. हालांकि प्रभावित परिवार ने सात हजार रुपये कर्ज लेकर चुकाया था. आर्थिक दंड के अलावा पंचायत ने शुद्धिकरण के लिए बनारस जाकर गंगास्नान करने और गया जाकर शुद्धिकरण की पूजा करने तथा लौटकर समाज को खिलाने का फरमान जारी किया था.

बेटी को बदचलन बताने का पिता ने विरोध किया था, लेकिन समाज के लोगों ने उसकी एक न सुनी थी. उल्टे उसकी पिटाई की और जुर्माना की राशि भरने का निर्देश दिया. इसका इतना बुरा असर हुआ कि बेटी के पिता ने रविवार को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.

WH MART 1

दो दिनों के बाद मंगलवार की शाम गांव से जंगली क्षेत्र में शव पेड़ से लटके पाये जाने पर मामला चर्चा में आ गया था. मृतक की पत्नी के बयान पर प्रजापति समाज के सात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. उनकी गिरफ्तारी के लिए छापामारी की जा रही है.

इसे भी पढ़ें : धनबाद : दो साल पहले होमगार्ड में हुआ चयन, ज्वाइनिंग के लिए अब तक दफ्तरों के चक्कर लगा रहे जवान

अविनाश देव ने दी आर्थिक मदद

झारखंड सरकार माटी कला बोर्ड के सदस्य सह प्रजापति समाज से आने वाले अविनाश देव ने घटना की घोर निंदनीय की है. प्रजापति समाज के लोगों से ऐसे मामलों में पुलिस प्रशासन से सहयोग लेने की अपील की है.

उन्होंने कहा कि समाज पंचायत लगाकर किसी को बदचलन कैसे ठहरा सकता है? इससे बुरे परिणाम सामने आते हैं. उन्होंने कहा कि रामगढ़ की घटना ने उन्हें झकझोर कर रख दिया है. श्री देव ने प्रभावित परिवार से मिलते हुए उन्हें ढाढ़स बंधाया और 10 हजार रुपये की आर्थिक मदद की. साथ ही आगे भी हर संभव सहयोग का आश्वासन दिया.

इसे भी पढ़ें : धनबाद : हत्या के मामले में बार-बार पिता से हो रही थी पूछताछ, बेटी ने तंग आकर लगा ली फांसी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like