न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू: वज्रपात से छह की मौत, छह दिन में 14 मरे

575

Palamu: पलामू में वज्रपात से लगातार मौतें हो रही हैं. अधेड़, युवा और किशोर असमय मौत की मुंह में समा जा रहे हैं. पिछले छह दिनों में 14 लोगों की मौत हो गयी है.

वज्रपात से लगातार हो रही मौतों से भय का माहौल देखा जा रहा है. बारिश होने के बाद आसमान में बिजली कड़कते ही लोगों में डर समा जाता है. गौरतलब है कि गत गुरूवार की दोपहर पलामू प्रमंडल के गढ़वा मझिआंव थाना क्षेत्र में वज्रपात होने से एक ही गांव के आठ युवकों की मौत हो गयी.

JMM

बारिश के पानी से बचने के लिए गांव के 10 युवक एक पेड़ के नीचे जमा थे. इसी बीच वज्रपात होने से 8 युवकों की मौत हो गयी थी, जबकि दो जख्मी हो गये थे. इस घटना के अभी छह ही दिन बीते थे कि पलामू में एक-एक करके छह लोगों की मौत वज्रपात से हो गयी.

इसे भी पढ़ें- मुजफ्फरपुर पीड़िता से गैंगरेप मामले में चार आरोपी गिरफ्तार, एक की खोज जारी

चार घंटे में छह की मौत

मंगलवार की दोपहर में अचानक मौसम खराब हुआ. शाम तक करीब चार घंटे तक जोरदार बारिश हुई. इस दौरान जिले के अलग-अलग क्षेत्रों में वज्रपात की घटनाएं हुई. जिससे छह लोगों की मौत हो गयी.

मरने वालों में दो छात्राएं और चार अधेड़ शामिल हैं. घटना के बाद इलाके में शोक की लहर है. विश्वकर्मा पूजा की खुशियां मातम में बदल गयी है. परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है.

हुसैनाबाद, मनातू, नौडीहा और चैनपुर में पांच की मौत

हुसैनाबाद थाना क्षेत्र के झरगढ़ा गांव में वज्रपात होने से लल्लू साव की मौत हो गयी. जबकि सुरेन्द्र यादव उर्फ रट्टू यादव जख्मी हो गया. उसे इलाज के लिए हुसैनाबाद अनुमंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

सुरेन्द्र यादव और लल्लू साव गांव में मवेशी चरा रहे थे. इसी दौरान बारिश शुरू हो गयी और वज्रपात होने से लल्लू साव की मौके पर मौत हो गयी, जबकि सुरेन्द्र यादव गंभीर हो गया. सुरेन्द्र यादव को पहले निजी क्लिनिक में भर्ती कराया गया, लेकिन बाद में स्थिति गंभीर होने पर उसे इलाज के लिए अनुमंडलीय अस्पताल भेजा गया.

इसे भी पढ़ें- 13 माह का वेतन देने के सरकार के फैसले से नाराज हैं, हमें लिखें

इसी तरह नौडीहा बाजार थाना क्षेत्र में वज्रपात होने से कोलेश्वर यादव की मौत हो गयी. नौडीहा की शाहपुर पंचायत अंतर्गत सतबरवा  निवासी शोभी यादव का 56 वर्षीय कौलेश्वर यादव, राजेन्द्र यादव की 12 वर्षीय पुत्री प्रियंका कुमारी की वज्रपात से मौत हो गई. जबकि दो गंभीर रूप से घायल हो गये.

मनातू के डुमरी गांव में वज्रपात होने से अशोक सिंह नाम के व्यक्ति की मौत हो गयी, जबकि दो लो जख्मी हो गये. दोनों को इलाज के लिए स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है.

इसी तरह चैनपुर के नरसिंहपुर पथर गांव में मवेशी चरा रहे शंभू महतो की वज्रपात से मौत हो गयी. शंभू अपनी भैस को लेकर खेत में चरा रहे थे. इसी दौरान वज्रपात हुआ और मौके पर ही उनकी मौत हो गयी. घटना की सूचना मिलने पर क्षेत्रीय विधायक आलोक चैरसिया ने पीड़ित परिवार से मुलाकात की और आर्थिक सहयोग दिया. साथ ही सरकारी मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया.

इसे भी पढ़ें- #Congress : सोशल मीडिया के दायरे से निकलने के अलावा कोर एजेंडे से जुड़ने की चुनौतियां भी कम नहीं हैं

पिपरा में किशोरी की मौत

जिले के पिपरा की सरैया पंचायत अंतर्गत चैतू विगहा गांव निवासी मिथिलेश राम की 14 वर्षीय इकलौती पुत्री नंदनी कुमारी की मौत मंगलवार की शाम 4.30 बजे मवेशी चराने के दौरान ठनका गिरने से हो गयी.

बताया जाता है कि नंदनी कुमारी घर से कुछ ही दूरी पर खेत में मवेशी चरा रही थी. तभी बारिश होने लगी. उसके साथ अन्य लोग भी मवेशी चरा रहे थे. बारिश शुरू होते ही सारे लोग वहां से भागने लगे.

इसी दौरान तेज आवाज के साथ आसमानी बिजली कड़की, जिसकी चपेट में आने से बच्ची की मौके पर ही मौत हो गयी.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like