न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू : कपड़ा व्यवसायी से टीपीसी के नाम पर लेवी वसूलने आये तीन धराये, 20 हजार  बरामद

नक्सली संगठनों के नाम पर डरा धमका कर लेवी वसूलने में लगे तीन अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है.

321

Daltonganj : नक्सली संगठनों के नाम पर डरा धमका कर लेवी वसूलने में लगे तीन अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है. उनके पास से लेवी के रूप में वसूले गये 20 हजार रुपये, पांच मोबाइल फोन और एक मोटरसाइकिल भी बरामद किये गये हैं. तीनों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

इसे भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव से पहले कई बीजेपी दिग्गजों की गिरिडीह लोकसभा सीट पर है नजर !

कहां से हुई गिरफ्तारी

पलामू जिले के पाटन थाना क्षेत्र अंतर्गत सेमरी गांव निवासी ओम कपड़ा दुकान के मालिक व्यवसायी ओम प्रकाश गुप्ता उर्फ भोलू को 11 अगस्त को मोबाइल नंबर 7372807590 से उनके मोबाइल नंबर 8340330244 पर फोन आया. फोन करने वाले ने बताया कि वह टीपीसी के अनूप जी बोल रहे हैं, 30 हजार रुपये और 30 कंबल चाहिए. व्यवसायी द्वारा असमर्थता जताने पर मामला 20 हजार रुपये तक आया. रुपये लेकर पाटन-नावाजयपुर मार्ग पर बंजारी गांव की दरी नदी के पास पहुंचाने को कहा गया.

Trade Friends

इसे भी पढ़ें- मसानजोर डैम विवाद : सरयू राय ने सीएम को लिखा पत्र, कहा- समाधान दुमका और वीरभूम स्तर पर संभव नहीं

Related Posts

गढ़वा: दो सगे भाइयों की गला रेतकर हत्या, पिछले तीन दिनों से थे लापता

हत्या के विरोध में आक्रोशित ग्रामीणों ने किया सड़क जाम.

पुलिस ने घेराबंदी कर दबोचा

डीएसपी सुरजीत कुमार ने जानकारी दी कि व्यवसायी से रंगदारी मांगने की सूचना मिलने पर पाटन थाना प्रभारी प्रमोद कुमार के नेतृत्व में टीम बनायी गयी. व्यवसायी के साथ पुलिस को सादे लिबास में भेजा गया. दरी नदी के किनारे पहुंचने पर तीन युवक एक मोटरसाइकिल (जेएच14ई 2535) पर आते दिखे. पुलिस उन्हें घेरने के लिए आगे बढ़ी तो वे भागने लगे, लेकिन जवानों ने दो अपराधियों को खदेड़कर पकड़ लिया. एक अपराधी वहां से भागने में सफल हो गया, लेकिन उसकी पहचान होने पर छापामारी कर उसके घर से उसे भी गिरफ्तार कर लिया गया.

रंगदारी के लिए नक्सली संगठन का इस्तेमाल

डीएसपी ने बताया कि गिरफ्तार अपराधियों में पाटन थाना क्षेत्र के भुड़वा निवासी सुदीप पासवान, ब्रहमोरिया निवासी पंकज ठाकुर व पथरा निवासी छोटू राम शामिल हैं. तीनों नक्सली संगठन के नाम का इस्तेमाल करते थे और जो लोग इनकी बातों से डर जाते हैं, उनसे रंगदारी वसूलते थे. इलाके से नक्सली संगठनों का सफाया हो जाने पर छोटे-मोटे अपराधी संगठन इसका फायदा उठाते हैं और लेवी वसूलते हैं. गिरफ्तार अपराधियों का मनोबल बढ़ने से पहले ही उन्हें दबोच लिया गया, यह पुलिस और आम जनता के लिए अच्छी खबर है.

 न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉ

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like