न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जहर खाकर मरी लड़की के पिता से पुलिस ने वसूले 15 हजार!

2,720

Gomia : घटना 30 जून की है. बोकारो जिला के गोमिया प्रखंड की लोदी पंचायत के बिजुआ गांव, जो चतरोचट्टी थाना में आता है, वहीं के रहनेवाले महेश साव की बेटी जहर खा लेती है. परिजनों को मालूम चलता है, तो उसे आईएएल के आर्डियर अस्पताल लेकर आते हैं. लेकिन, वहां के डॉक्टर बड़ा अस्पताल ले जाने को कहते हैं. परिजन उसे गोमिया अस्पताल लेकर आते हैं. गोमिया में प्राथमिक उपचार के बाद उसे जल्द ही बोकारो जेनरल अस्पातल ले जाने को कहा जाता है. परिजन उसे वहां लेकर जाते हैं, लेकिन डॉक्टर अस्पताल पहुंचते ही उसे मृत घोषित कर देते हैं. परिजन रोते-गाते शव को वापस गांव लेकर आते हैं और उसका अंतिम संस्कार कर देते हैं. अंतिम संस्कार होने का बाद लड़की की मौत की खबर थाने तक पहुंचती और यहीं से शुरू होता है रिश्वतखोरी और दहशतगर्दी का गंदा खेल.

इसे भी पढ़ें- घोषणा कर भूल गयी सरकारः 16 जुलाई 2016: सीएम ने पंचायत प्रतिनिधियों को मोटिवेट करने की कही थी बात

Trade Friends

ठीक 13वें दिन पुलिस ने धावा बोला

लड़की के परिजनों का कहना है कि कोई लड़का फोन पर उससे बात किया करता था. इस वजह से घरवालों ने उसे डाटा, तो उसने घर में रखा जहर खा लिया. बहरहाल, पूरी कहानी सुनकर लगा कि पुलिस बस उसके तेरहवें का ही इंतजार कर रही थी. ठीक 13 जुलाई को (30 जून को लड़की की मौत हुई थी) चतरोचट्टी थाना के जमादार गजाधर सिंह ने एक चौकीदार को महेश साव के घर भेजा. सुबह 9 बजे के करीब महेश साव को चौकीदार थाना लेकर आया. थाना में शाम पांच बजे तक महेश साव को जमादार गजाधर सिंह ने बैठाकर रखा. महेश साव को डराया गया. उससे बार-बार बोला जा रहा था कि एक लाख रुपये की व्यवस्था करो, नहीं तो बेटी की हत्या के मामले में केस कर दिया जायेगा. यहां तक कि गजाधर सिंह ने महेश साव का फोन भी जब्त कर लिया. शाम पांच बजे के करीब महेश साव की पत्नी ने महेश साव के फोन पर कॉल किया. जमादार ने फोन महेश साव को दिया और बोला की पत्नी से पैसे मंगवाओ. महेश साव से उसकी पत्नी ने पूछा कि कहां हो. महेश साव ने जवाब दिया कि थाना के हाजत में हूं, जल्दी ही कहीं से 20 हजार रुपये लेकर आओ. पत्नी किसी तरह 15 हजार रुपये जमा कर थाने पहुंची. जमादार को पैसे दिये, तब जाकर थाने से उसे मुक्ति मिली.

इसे भी पढ़ें- धनबाद: हथियार के बल पर व्यवसायी के कर्मचारी से करीब 11 लाख की लूट

पूर्व विधायक के जनता दरबार में हुआ खुलासा

घटना के बाद महेश साव के घरवाले काफी डरे-सहमे थे. महेश साव की पत्नी ने पूर्व विधायक माधव लाल सिंह को फेन पर सारी बात की जानकारी दी. सिंह ने पति-पत्नी को रविवार को जनता दरबार में आने को कहा. जनता दरबार में ऊपर लिखी सारी बातों को दंपती ने पूर्व विधायक के सामने रखा. सिंह ने पहले तो चतरोचट्टी थाना प्रभारी भानु प्रताप सिंह को फोन किया और सारी बात कही. प्रभारी ने तुरंत संज्ञान लेने की बात कही. इसके बाद पूर्व विधायक ने एएसपी एससी जाट को सारी बात की जानकारी दी. एएसपी ने जांच का भरोसा दिया.

इसे भी पढ़ें- चतराः विदेशी पिस्टल व गांजा के साथ तीन पेशेवर अपराधी गिरफ्तार

अब पुलिस दे रही है मामले को नया एंगल

पुलिस अधिकारियों को पूर्व विधायक का फोन जाने के बाद सभी सक्रिय हुए. एसएसपी खुद मामले की जांच कर रहे हैं. लेकिन, अपने साथी पुलिसकर्मी को फंसते देख अब पूरा महकमा इस मामले को नया एंगल देने में लगा है. दरअसल, चतरोचट्टी के ही रहनेवाले डॉ. दामोदर महतो का बकाया महेश साव के पास निकल रहा है. पुलिस पूरे मामले को पैसे के लेन-देन से जोड़ देना चाह रही है. मामला ऐसा बनाया जा रहा है कि दामोदर महतो अपने पैसे की वसूली के लिए महेश साव पर केस करना चाह रहा था. इसी वजह से पुलिस ने महेश साव को थाने बुलाया था.

WH MART 1

जमादार ने मुखिया पति और थाना प्रभारी के सामने वापस किये पैसे : माधव लाल

न्यूज विंग से बात करते हुए पूर्व विधायक माधव लाल सिंह ने बताया कि जैसे ही उन्हें इस बात की जानकारी हुई, उन्होंने थाना प्रभारी और एएसपी को फोन किया. थाना प्रभारी ने कहा कि मैं गांधी नगर में हूं, जाते ही जांच करता हूं. कहा कि दबाव बनने के बाद जमादार गजाधर सिंह ने चतरोचट्टी मुखिया पति महादेव महतो और थाना प्रभारी की मौजूदगी में पैसे वापस किये. इधर, एक चश्मदीद ने न्यूज विंग को बताया कि चतरोचट्टी थाना प्रभारी भानु प्रताप सिंह और मुखिया पति महादेव महतो की मौजूदगी में जमादार गजाधर सिंह ने महेश साव से लिये 15000 रुपये वापस किये. पैसा वापस किये जाने की तस्वीर भी पुलिसवालों ने ली.

इसे भी पढ़ें- जबरन धर्म परिवर्तन का आरोप, खंडहरनुमा मकान में छिपाई गई थी चार महिलाएं

मामला गंभीर है, जांच कर रहा हूं : एएसपी

न्यूज विंग को बेरमो के एएसपी एससी जाट ने बताया कि पूर्व विधायक ने मेरे पास फोन किया था. मामले की जांच हो रही है. अभी भी मैं चतरोचट्टी थाना में ही हूं. लेकिन, जैसा मामला बताया गया था, वैसा नहीं है. दरअसल, दामोदर महतो का करीब 70,000 रुपये बकाया महेश साव के पास निकल रहा था. उसी सिलसिले में उस पर केस करने की बात है. जांच पूरी होने पर मैं रिपोर्ट सौंपूंगा.

पैसे लेने की कोई बात ही नहीं : थाना प्रभारी

न्यूज विंग से बात करते हुए चतरोचट्टी थाना प्रभारी ने तो पहले ऐसे किसी भी मामले से इनकार कर दिया. बाद में कहा कि जमादार से पैसे लेने की कोई बात नहीं है. डॉ. दामोदर महतो का पैसा महेश साव के पास निकल रहा है, जिसे लेकर केस होने का नोटिस दिया गया था.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like