न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

प्रधानमंत्री मोदी का फोन आया, आप मंत्रिमंडल में शामिल किये जा रहे हैं…

मोदी की मंत्रिपरिषद में राजग के घटक दल जदयू, शिवसेना, लोजपा, अन्नाद्रमुक, अकाली दल आदि को भी शामिल किया जायेगा. राजग के प्रत्येक घटक दल को एक कैबिनेट सीट मिलेगी.

417

NewDelhi : प्रधानमंत्री मोदी ने आज शाम शपथ लेने से पहले मंत्रिपरिषद को लेकर  भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ अंतिम दौर की वार्ता की.  जानकारी के अनुसार पीएम मोदी और अमित शाह की बैठक के बाद संभावित मंत्रियों को फोन कर पीएम मोदी से मिलने के लिए बुलाया गया.

सूत्रों के अनुसार पीएम मोदी के दूसरे कार्यकाल के लिए कैबिनेट में रविशंकर प्रसाद, सदानंद गौड़ा, पीयूष गोयल, प्रकाश जावेड़कर, जी किशन रेड्डी, साध्वी निरंजन ज्योति, पुरुषोत्तम रुपाला, राम विलास पासवान, रमेश पोखरियाल और मुख्तार अब्बास नकवी मंत्री बनेंगे.

इसे भी पढ़ेंःटीवी चैनलों पर एक महीने तक नजर नहीं आएंगे कांग्रेस के प्रवक्ता, पार्टी ने जारी किया फरमान

Trade Friends

प्रधानमंत्री मोदी शपथ लेने से पहले आवास पर मुलाकात करेंगे

साथ ही अर्जुन मेघवाल,  प्रहलाद पटेल, बाबुल सुप्रियो, निर्मला सीतारमण, स्मृति ईरानी, कैलाश चौधरी, किरण रिजिजू, सुषमा स्वराज, नितिन गडकरी, किशनपाल गुर्जर, हरसिमरत कौर, थावरचंद गहलोत, राव इंद्रजीत सिंह,  आरसीपी सिंह, गजेंद्र सिंह शेखावत, राजनाथ कैबिनेट और रामदास अठावले को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के लिए फोन गया है. खबर है कि प्रधानमंत्री मोदी शपथ लेने से पहले इनसे अपने आवास पर मुलाकात करेंगे.

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने गुरुवार सुबह मंत्रियों के नामों पर फाइनल चर्चा करने के लिए 90 मिनट पीएम मोदी से मुलाकात की. अर्जुन राम मेघवाल ने बताया, मुझे अधिकृत कॉल आ गया है. मैं मोदी जी का धन्यवाद करता हूं. मुझ पर भरोसा जताया गया है. मैं उनका आभार व्यक्त करता हूं. हमें भारत को विकसित देश बनाना है. शाम को प्रधानमंत्री ने अपने आवास पर चाय पर बुलाया है. रोड मैप पर चर्चा होगी.

 शाह भाजपा अध्यक्ष बने रह सकते हैं

मोदी की मंत्रिपरिषद में राजग के घटक दल जदयू, शिवसेना, लोजपा, अन्नाद्रमुक, अकाली दल आदि को भी शामिल किया जायेगा. राजग के प्रत्येक घटक दल को एक कैबिनेट सीट मिलेगी. शिवसेना से अरविंद सावंत और लोजपा से रामविलास पासवान का नाम आगे बढ़ाया गया है. अटकलें हैं कि शाह नयी सरकार का हिस्सा होंगे.

शाह को भाजपा की रणनीति बनाने का श्रेय दिया जाता है. यह भी चर्चा है कि शाह भाजपा अध्यक्ष बने रह सकते हैं क्योंकि कुछ प्रमुख राज्यों में विधानसभा चुनाव अगले एक वर्ष में होने हैं. भाजपा के कई नेताओं का मानना है कि पूर्ववर्ती मंत्रिमंडल के अधिकतर प्रमुख सदस्यों को बरकरार रखा जा सकता है.

इसे भी पढ़ेंःसुरक्षा शीर्ष प्राथमिकता, गरीबों, वंचितों के जीवन को बेहतर बनाने के लिये करेंगे काम : मोदी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like