न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रिम्स से हथकड़ी खोलकर कैदी फरार, तलाश में जुटी पुलिस

747

Ranchi: राज्य के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स में इलाज कराने आया कैदी पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया. कैदी हथकड़ी खोल कर अस्पताल से भाग गया.

फरार कैदी का नाम आशीष घोष है और वह बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार से इलाज कराने के लिए रिम्स आया हुआ था. इसी दौरान मेडिसिन यूनिट डॉ विद्यापति के वार्ड से हथकड़ी खोलकर फरार हो गया. फिलहाल पुलिस कैदी की तलाश में जुटी है.

इसे भी पढ़ें- #JharkhandPolice ने HC को सौंपे दागी जनप्रतिनिधियों के ब्योरे में CM, तीन मंत्रियों व सांसद का नाम छिपाया

Trade Friends

दोहरे हत्याकांड का आरोपी है आशीष

उल्लेखनीय है कि आशीष घोष बरियातू में किंग लैंड एकेडमी स्कूल की प्रिंसिपल आरती देवी और बेटे रितेश की हत्या का आरोपी है. साल 2018 में आरती देवी और बेटे रितेश की उनके ही घर पर हत्या कर दी गयी थी.

जिसके बाद पुलिस ने इस हत्याकांड के आरोपी आशीष घोष को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था. रिम्स के आइसीयू वार्ड से कैदी आशीष शुक्रवार की सुबह ड्यूटी में तैनात सिपाही को चकमा देकर भाग गया. कैदी आशीष पर दोहरे हत्या का आरोप है. और उसकी सुरक्षा में जेल के दो सिपाही तैनात थे फिर भी वह भागने में सफल रहा.

इसे भी पढ़ें- बड़कागांव BDO दंपत्ति के खिलाफ वारंट जारी, गिरफ्तारी के लिए पुलिस कर रही छापेमारी

इससे पहले भी रिम्स से कैदी हो चुके हैं फरार

इससे पहले भी रिम्स से कैदी के फरार होने की घटना हो चुकी है. 17 मई 2018 को रिम्स के सर्जरी विभाग में इलाज करा रहा कैदी बुधराम उरांव फरार हो गया था. बुधराम हत्या के आरोप में होटवार जेल में बंद था. वह बेड़ो के जरिया, कटरमाली गांव का रहनेवाला है. उसका पैर टूटा हुआ था और उसमें प्लेट लगा हुआ था. वह छह अप्रैल से रिम्स में भर्ती था.

उसकी सुरक्षा में दो हवलदार कार्तिक खड़िया और चामू प्रधान को लगाया गया था. ड्यूटी के दौरान चामू प्रधान कैदी वार्ड में सोया हुआ था, वहीं कार्तिक खड़िया किसी काम से बाहर निकला था.

इसी दौरान कैदी की पत्नी एक ट्रॉलीमैन को बुला कर जांच कराने के नाम पर उसे इमरजेंसी में ले गयी और वहां से दोनों फरार हो गये. इस मामले में एसएसपी ने दोनों हवलदार कार्तिक व चामू प्रधान को लापरवाही के आरोप में निलंबित कर दिया.

दूसरी घटना 17 जून 2018 की है. पिंटू नाम का कैदी जिसको एक दिन पहले ही पलामू केंद्रीय कारा से इलाज के लिए रिम्स लाया गया था वह फरार हो गया था. कैदी की सुरक्षा में लगे सुरक्षाकर्मी कैदी वार्ड में सोने के लिए चले गये थे. इसी बीच मौका मिलते ही कैदी भागने में सफल हो गया.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like