न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

ई-कॉमर्स कंपनियों के खिलाफ व्यापारियों का देशभर में विरोध-प्रदर्शन

268

New Delhi: व्यापारी संगठनों ने बुधवार को अमेजन और फ्लिपकार्ट जैसी प्रमुख ई-कॉमर्स कंपनियों के खिलाफ देश के 700 से अधिक शहरों में धरना-प्रदर्शन किया.

व्यापारियों के संगठन कनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के आह्वान पर व्यापारियों ने ‘राष्ट्रीय विरोध दिवस’ मनाया और अमेजन व फ्लिपकार्ट द्वारा अपनाये जा रहे अनुचित व्यापार व्यवहार पर विरोध जताया.

JMM

कैट ने कहा कि अमेजन एवं फ्लिपकार्ट ने अपनी अनैतिक व्यापार पद्धति से ई-कॉमर्स बाजार को ‘दूषित’ कर दिया है. ये कंपनियां खुलेआम सरकार की प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआइ) नीति का उल्लंघन कर रही हैं.

प्रतिबंध लगाने की मांग

कैट के अनुसार प्रदर्शकारियों ने सरकार से ई-कॉमर्स पोर्टल अमेजन और फ्लिपकार्ट पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है.

कैट के महासचिव प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि व्यापारियों को अमेजन और फ्लिपकार्ट के भारत में व्यापार करने पर कोई एतराज नहीं है किन्तु व्यापारियों की तरह इन ई-कॉमर्स कंपनियों को भी सरकार की एफडीआइ नीति तथा अन्य कानूनों का पालन करना होगा जिससे बाजार में समान प्रतिस्पर्धा बनी रहे.

Bharat Electronics 10 Dec 2019

कैट ने मांग की है कि जब तक कि ये कंपनियां अपने पोर्टल को पूरी तरह देश की एफडीआइ नीति और अन्य कानूनों के अनुरूप नहीं कर लेती हैं, उनका परिचालन बंद कर दिया जाना चाहिए.

कैट ने सरकार से यह भी मांग की है कि इन कंपनियों के कारोबारी मॉडल, खातों और उनको मिले विदेशी निवेश की जांच की जानी चाहिए. कैट ने यह भी मांग की है कि यह पता लगाया जाना चाहिए कि ऐसा कौन सा कारोबारी मॉडल है जिसमें हर साल करोड़ों रुपये का घाटा उठाने के बावजूद ये कंपनियां ग्राहकों को लगातार छूट दे रही हैं.

इसे भी पढ़ें – #Jharkhand में 10 हजार आदिवासियों पर लगा राजद्रोह कानून, लेकिन देश की अंतरात्मा नहीं हिली: राहुल

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like