न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#CBSE :  वर्ष 2020 में 22 हजार विद्यार्थी देंगे 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षा, रांची में होंगे 16 केंद्र

1,549

Ranchi : सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) की ओर से 10वीं और 12 वीं बोर्ड परीक्षा लेने को लेकर तैयारियां चल रही हैं. इसी कड़ी में कहां कितने सेंटर होंगे, इसकी रूपरेखा तैयार की जा रही है.

सीबीएसई की ओर से तमाम एफिलिएटेड स्कूलों से उनके रिकॉर्ड मांगे गये हैं. वहीं सीबीएसई की टीम भी निरीक्षण कर रही है. वर्ष 2020 की 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षा के लिए रांची में 16 सेंटर होंगे.

JMM

जहां 22 हजार से अधिक विद्यार्थी शामिल होंगे. 10वीं में लगभग साढ़े 11 हजार और 12 वीं में 11 हजार परीक्षार्थी शामिल होंगे.

इसे भी पढ़ेंः #BSNL कर्मचारियों को अक्टूबर का वेतन नहीं मिला, सोमवार से  80,000 कर्मचारी कर सकेंगे #VRS का आवेदन

मानकों के आधार पर किया जा रहा चयन

गौरतलब हो कि सीबीएसई ने परीक्षा केंद्र बनाने के लिए कुछ मानक निर्धारित किये हैं. उन्हीं मानकों के अनुसार स्कूलों से रिकॉर्ड मांगे गये हैं. रांची से 20 स्कूलों के नाम भेजे गये हैं. सीबीएसई स्कूलों की ओर से भेजे गये रिकॉर्ड के आधार पर जांच कर परीक्षा केंद्र निर्धारित करेगी.

Bharat Electronics 10 Dec 2019

बोर्ड के मुताबिक वैसे स्कूल जहां वर्ष 2019 की परीक्षा में नकल करते हुए छात्र पकड़ाये थे, वहां परीक्षा केंद्र नहीं बनायेगी. जिन स्कूलों में मानकों को पूरा करने में थोड़ी बहुत कमियां रह गयी हैं, उन्हें बोर्ड ने दूर करने को कहा है.

एडमिट कार्ड में ही मिलेगी सेंटर की जानकारी

सीबीएसई इस बार एडमिट कार्ड के माध्यम से ही परीक्षा केंद्रों की जानकारी देगी. दूसरे किसी भी माध्यम से जानकारी उपलब्ध नहीं करायी जायेगी. जनवरी के दूसरे सप्ताह में स्कूलों को एडमिट कार्ड उपलब्ध करा दिया जायेगा.

इसके अलावा इस बार से परीक्षा केंद्र में सीबीएसई की ओर से काउंसलर भी उपलब्ध कराया जायेगा. इसे उपलब्ध कराने के पीछे सीबीएसई का तर्क है कि कई बार क्वेश्चन को देखकर परीक्षार्थी निराश हो जाते हैं.

ऐसे में उनका सीधा असर परीक्षाओं पर पड़ जाता है. परीक्षा केंद्र में मौजूद काउंसलर ऐसे विद्यार्थियों को चयनीत करेगा और उसकी काउंसलिंग करेगी.

इसे भी पढ़ेंः #DelhiAirEmergency : प्रदूषण और खराब मौसम को देखते हुए दो दिनों के लिए नोएडा के स्कूल बंद करने का आदेश

इन मापदंडों को पूरा करने वाले स्कूल बनेंगे सेंटर

  • सीबीएसई के मुताबिक जिस स्कूल में कम से कम 500 विद्यार्थियों के परीक्षा देने की क्षमता हो
  • एक कमरे में कम से कम 30 से अधिक विद्यार्थियों के बैठने की जगह हो
  • स्कूल पूरी तरह से सीसीटीवी की निगरानी में हो
  • परीक्षा के दौरान अलग से कंट्रॉल रूम व स्ट्रांग रूम बनाने की व्यवस्था हो
  • 500 से अधिक परीक्षार्थियों के होने की स्थिति में हर क्लास में दो शिक्षक हों
  • स्कूल के नजदीक अस्पताल या स्वास्थ्य केंद्र हों
  • स्कूल के आसपास पुलिस स्टेशन हो और
  • परीक्षा केंद्र दिव्यांग विद्यार्थियों के अनुकूल हो.

इसे भी पढ़ेंः यूजीसी का निर्देश: परीक्षा केंद्रों पर जैमर लगाने का सख्ती से पालन करें विश्वविद्यालय

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like