न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#Ranchi: रांची विश्वविद्यालय के पूर्व कर्मी अरुण नाग हत्याकांड के मुख्य आरोपी राजेश नायक की गोली मार कर हत्या

1,704

Ranchi: चुटिया थाना क्षेत्र के रहनेवाले और रांची विश्वविद्यालय के पूर्व कर्मी अरुण नाग हत्याकांड के मुख्य आरोपी राजेश नायक की गोली मार कर हत्या कर दी गयी.

नामकुम थाना में कवाली(केरकेटा)गांव के पास अज्ञात अपराधियों ने राजेश नायक की गोली मार कर हत्या कर दी. हत्या की घटना का अंजाम देने के बाद अपराधी फरार हो गये.

JMM

घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंच कर शव को कब्जे में लेकर मामले की जांच में जुटी हुई है. मौके पर ग्रामीण एसपी भी पहुंचे.

घटनास्थल पर पहुंची राजेश नायक की पत्नी ने कुछ लोगों के नाम बताये हैं. राजेश नायक की पत्नी के द्वारा जिन लोगों के नाम बताये गये हैं पुलिस उनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है.

राजेश नायक खिजरी प्रखंड आजसू का पूर्व अध्यक्ष रह चुका है.

Bharat Electronics 10 Dec 2019

इसे भी पढ़ें – विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा ‘अलर्ट मोड’ में, सीटों को लेकर एनडीए में मच सकता है घमासान

अज्ञात अपराधियों ने सिर में गोली मार कर की हत्या

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार रांची विश्वविद्यालय के पूर्व कर्मी अरुण नाग हत्याकांड के मुख्य आरोपी राजेश नायक की अपराधियों ने सिर में गोली मार कर हत्या कर दी.

बताया जा रहा है कि नामकुम थाना क्षेत्र के केरकेटा गांव के पास राजेश नायक का शव सड़क पर गिरा हुआ था. जिसके बाद किसी ने सूचना पुलिस को दी.

घटना की सूचना मिलने पर मौके पर पुलिस पहुंच कर मामले की जांच में जुटी हुई है.

हत्या के पीछे की वजह का नहीं चल पाया है पता

मिली जानकारी के अनुसार राजेश नायक को सोमवार की देर शाम किसी ने फोन कर बुलाया था. हत्या की घटना को अंजाम किस वजह से दिया गया है अभी तक इसका कुछ पता नहीं चल पाया है.

पुलिस सभी मुख्य बिंदुओं को ध्यान में रख कर मामले की छानबीन में जुटी हुई है, हालांकि आशंका जतायी जा रही है कि राजेश नायक की हत्या जमीन विवाद के चलते की गयी है.

इसे भी पढ़ें – #OppositionParties मंदी, बेरोजगारी पर #Modi सरकार को संसद से सड़क तक घेरेंगी, संघर्ष का ऐलान

रांची विश्वविद्यालय के पूर्व कर्मी अरुण नाग हत्याकांड का मुख्य आरोपी था राजेश नायक

चुटिया थाना क्षेत्र के पावर हाउस चौक के समीप रहनेवाले रांची विश्वविद्यालय के पूर्व कर्मी अरुण नाग की हत्या का मुख्य आरोपी राजेश नायक था.

राजेश नायक ने अरुण नाग हत्याकांड में पिछले वर्ष पुलिस के दबाव में कोर्ट में सरेंडर किया था. जिसके बाद हाल के महीनों में जेल से जमानत पर बाहर आया था.

राजेश नायक नामकुम इलाके का रहनेवाला और पेशे से जमीन के कारोबार से जुड़ा था. बता दें कि 15 मार्च 2018 को अरुण नाग की गोली मार कर हत्या कर दी थी.

घटना के बाद मामले में कुछ लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी. लेकिन राजेश नायक की  संलिप्तता के ठोस साक्ष्य नहीं मिले. तब पुलिस ने दूसरे बिंदुओं पर जांच शुरू की.

इसके बाद पुलिस की जांच में यह बात सामने आयी कि राजेश नायक के साथ अरुण नाग का विवाद था.उसने जमीन हड़पने के लिए अरुण नाग की हत्या कर दी थी.

9 जुलाई 2014 को नामकुम थाना क्षेत्र के जोरार पेट्रोल पंप के पास बीजेपी नेता रतन गोप की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी. रतन गोप की हत्या को लेकर उनके पिता सोहराई शंकर गोप के बयान पर राजेश नायक सहित कई अन्य लोगों खिलाफ नामकुम थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी.

इसे भी पढ़ें – #Congress के 25 नेता दिखा रहे सीएम रघुवर दास के खिलाफ चुनाव लड़ने में रुचि  

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like