न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मुख्यमंत्री स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार योजना के लिए रजिस्ट्रेशन नहीं कराने वाले स्कूल-कॉलेजों का रुक सकता है अनुदान

719

Ranchi: मुख्यमंत्री स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार योजना के लिए रजिस्ट्रेशन नहीं कराने वाले स्कूल-कॉलेजों को मिलने वाला अनुदान रोका जा सकता है. इससे संबंधित आदेश माध्यमिक शिक्षा निदेशक डॉ जटाशंकर चौधरी ने राज्य के सभी जिले के जिला शिक्षा पदाधिकारी को दिया है.

राज्य के सभी स्कूल, कॉलेज, माध्यमिक, उच्चतर माध्यमिक व इंटर कॉलेजों को इस योजना के तहत रजिस्ट्रेशन कराना है. गौरतलब हो कि मुख्यमंत्री स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार योजना के तहत राज्य के सभी सरकारी विद्यालयों के साथ-साथ प्राइवेट विद्यालयों को पुरस्कृत करना है. इस योजना में शामिल नहीं होने वाले विद्यालयों के 2019-20 के अनुदान राशि को रोका जा सकता है.

इसे भी पढ़ें- 3.19 करोड़ जनता के सुझाव से बनेगा भाजपा का विधानसभा चुनाव के लिए घोषणा पत्रः बीजेपी

Trade Friends

25 अक्टूबर तक है रजिस्ट्रेशन कराने का मौका

मुख्यमंत्री स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार योजना में शामिल होने के लिए 25 अक्टूबर तक रजिस्ट्रेशन कराया जा सकता है. पहले रजिस्ट्रेशन कराने की अंतिम तारीख 15 अक्टूबर ही तय थी, लेकिन उक्त तिथि तक 50 फीसदी से भी कम स्कूलों-कॉलेजों से रजिस्ट्रेशन कराया था.

15 अक्टूबर तक 28699 स्कूलों ने ही पहले चरण का रजिस्ट्रेशन कराया था, जबकि राज्य में स्कूलों की संख्या 45098 है. पूरी तरह से मात्र 8919 स्कूलों ने रजिस्ट्रेशन कराया है. इस योजना में शामिल होने के लिए स्कूलों को 39 बिंदूओं की जानकारी देनी होती है.

इसे भी पढ़ें- रमेश सिंह मुंडा हत्याकांड के मुख्य साजिशकर्ता पूर्व मंत्री राजा पीटर की जमानत पर टली सुनवाई

ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के बाद होगी स्कूलों की जांच

इस योजना में शामिल होने वाले स्कूलों को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा. इसके बाद स्कूलों की जांच की जायेगी. योजना के तहत स्कूलों की ग्रेडिंग की जायेगी.

वर्ष 2019-20 के लिए राज्य के 5000 स्कूलों को फाइव स्टार ग्रेड में रखने का लक्ष्य तैयार किया गया है. ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के बाद स्कूलों की जांच की जायेगी, जिसके आधार पर स्कूलों को ग्रेडिंग मिलेगा.

स्कूलों को जिला व राज्य स्तर पर पुरस्कार दिया जायेगा. इस योजना में 119 स्कूलों को दो लाख रुपये तक का पुरस्कार मिलेगा. प्लस टू, हाइस्कूल, आवासीय विद्यालय व स्पेशल स्कूलों की कैटेगरी में दो लाख रुपये का पुरस्कार होगा.

वहीं मध्य विद्यालय को 1.50 लाख व प्राथमिक विद्यालयों को एक लाख रुपये तक का पुरस्कार मिलेगा. इन स्कूलों का चयन शहरी व ग्रामीण इलाकों से किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें- #CM की सभा में भीड़ जुटाने के लिए बांटे गये दो-दो सौ रुपये, वीडियो वायरल

रांची से 2292 स्कूलों का हुआ रजिस्ट्रेशन

इस योजना के लिए पाकुड़ से 818, लोहरदगा से 566, साहेबगंज से 974, रामगढ़ से 830, कोडरमा से 365, गोड्डा से 1521, चतरा से 1428, गिरिडीह से 2805, गुमला से 1033, दुमका से 1379, पलामू से 2312, सरायकेला से 493, लातेहार से 808, सिमडेगा से 418, जामताड़ा से 539, धनबाद से 1971, बोकारो से 1789, पूर्वी सिंहभूम से 866, देवघर से 1361, खूंटी से 539, पश्चिमी सिंहभूम से 1440, हजारीबाग से 1184, गढ़वा से 968 व रांची से 2292 स्कूलों का रजिस्ट्रेशन कराया गया है.

SGJ Jewellers

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like