न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स में 60 अंक चढ़ा, रुपया भी पांच पैसे मजबूत

582

Mumbai: विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआइ) की लिवाली के बीच बैंकिंग शेयरों के मजबूत होने से गुरुवार को शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 60 अंक की तेजी में रहा. कोरोबारियों ने कहा कि कच्चा तेल की नरमी से भी बाजार की धारणा को बल मिला.

इसे भी पढ़ें- #Parliament में और मजबूत हुई मोदी सरकार, राज्यसभा में बहुमत की ओर NDA

निफ्टी में दो अंक की मामूली बढ़त

बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स शुरुआती कारोबार में 60.48 अंक यानी 0.16 प्रतिशत की तेजी के साथ 38,659.47 अंक पर चल रहा था. इसी तरह एनएसई का निफ्टी दो अंक की मामूली बढ़त के साथ 11,466 अंक पर चल रहा था.

सेंसेक्स की कंपनियों में एचडीएफसी, आईटीसी, टीसीएस, एनटीपीसी, एशियन पेंट्स, एलएंडटी, इंडसइंड बैंक, एचडीएफसी बैंक, एक्सिस बैंक, भारतीय स्टेट बैंक और सन फार्मा के शेयर बढ़त में चल रहे थे.

हालांकि वेदांता, टाटा स्टील, ओएनजीसी, एचसीएल टेक, महिंद्रा एंड महिंद्रा, टेक महिंद्रा और टाटा मोटर्स के शेयर 1.94 प्रतिशत तक की गिरावट में रहे.

इसे भी पढ़ें- #RTIAct में संशोधन के बाद मुख्य सूचना आयुक्त, सूचना आयुक्तों का कद घटाने की तैयारी में मोदी सरकार, ड्राफ्ट तैयार

बुधवार को भी सेंसेक्स, निफ्टी में रही तेजी

बुधवार को सेंसेक्स में 92.90 अंक और निफ्टी में 35.70 अंक की तेजी रही थी. शुरुआती आंकड़ों के अनुसार, बुधवार को एफपीआइ ने 686.33 करोड़ रुपये की शुद्ध खरीदारी की. घरेलू संस्थागत निवेशक भी 1,576.73 करोड़ रुपये के शुद्ध खरीदार रहे.

एशियाई बाजारों में कारोबार के दौरान हांग कांग का हैंग सेंग, चीन का शंघाई कंपोजिट और जापान का निक्की तेजी में चल रहे थे. हालांकि दक्षिण कोरिया का कोस्पी गिरावट में चल रहे थे. इस बीच, ब्रेंट क्रूड का वायदा 0.69 प्रतिशत गिरकर 59.01 डॉलर प्रति बैरल पर चल रहा था.

इसे भी पढ़ें- निर्मला सीतारमण ने कहा- निवेश के लिए भारत से अच्छा कोई स्थान नहीं, सुधार के लिए प्रयासरत सरकार 

रुपया पांच पैसे मजबूत

विदेशी निवेशकों की लिवाली और घरेलू बाजारों की सकारात्मक शुरुआत के कारण गुरुवार को शुरुआती कारोबार में रुपया पांच पैसे की बढ़त के साथ 71.38 रुपये प्रति डॉलर पर रहा.

कारोबारियों ने कहा कि ब्रेक्जिट सम्मेलन और रिजर्व बैंक की बैठक के निष्कर्ष जारी होने से पहले निवेशकों ने सतर्कता बरती. इसके कारण रुपया सीमित दायरे में रहा. बुधवार को रुपया 71.43 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ था.

कारोबारियों ने कहा कि घरेलू बाजार की तेज शुरुआत, विदेशी निवेशकों की लिवाली, कच्चा तेल में नरमी और अमेरिका-चीन के व्यापार सौदे को लेकर उम्मीदों से रुपये को समर्थन मिला.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like