न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

दिल्ली पहुंचे ममता के करीबी शोभन चटर्जी, थामेंगे भाजपा का दामन

239

Kolkata: मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बेहद करीबी रहे कोलकाता के पूर्व मेयर शोभन चटर्जी मंगलवार को दिल्ली पहुंचे गये. उनके साथ उनकी महिला साथी बैसाखी बनर्जी भी हैं.‌ भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य मुकुल राय इन दोनों को लेकर दिल्ली पहुंचे हैं.

इसे भी पढ़ें – BJP सांसद समीर उरांव ने कहा था : जमीन दे दो, सत्ता में आते ही लगा देंगे नौकरी, देखें वीडियो

लंबे समय से थी अटकल

सूत्रों के अनुसार 24 घंटे के अंदर दोनों भाजपा का दामन थाम लेंगे. इन तीनों की एक तस्वीर भी वायरल हुई है जिसमें हवाई अड्डे पर एक साथ नजर आ रहे हैं. इस तस्वीर के वायरल होने के बाद ऐसा माना जा रहा है कि लंबे समय से शोभन के भाजपा में शामिल होने संबंधी जो अटकलें लगायी जा रही थीं, वह अब सच होने जा रहा है. दो दिन पहले ही ममता बनर्जी के सबसे विश्वस्त सहायक रतन मजूमदार शोभन चटर्जी के घर जाकर मिले थे. वह मुख्यमंत्री के दूत बन कर गये थे और उन्होंने शोभन से पार्टी में बने रहने की अपील की थी. इसके बावजूद पूर्व मेयर ने साफ कर दिया था कि जिस तरह से ममता बनर्जी ने उनके साथ बर्ताव किया है उसके बाद उनका तृणमूल में बने रहना संभव नहीं है.

Trade Friends

शोभन चटर्जी के भाजपा में जाने की भनक मिलने के बाद ममता बनर्जी ने पिछले सप्ताह विधानसभा में बेहला क्षेत्र के पार्षदों की बैठक बुलायी थी, लेकिन उसमें भी शोभन चटर्जी नहीं गये थे. उल्लेखनीय है कि शोभन चटर्जी ममता बनर्जी के सबसे करीबी नेताओं में शामिल रहे हैं. हालांकि जादवपुर विश्वविद्यालय की प्रोफेसर बैसाखी बनर्जी से कथित संबंधों के बाद वह तमाम तरह के सवालों के घेरे में रहते थे.

इसे भी पढ़ें – यौन उत्पीड़न केस: अग्रिम जमानत के लिए हाईकोर्ट पहुंचे विधायक प्रदीप यादव

मुख्यमंत्री ने उन्हें कोलकाता का मेयर बनाने के साथ-साथ राज्य का अग्निशमन मंत्रालय भी दिया था. यह भी आरोप था कि जब मुख्यमंत्री मंत्रिमंडल की बैठक करती थीं, तब शोभन चटर्जी अपनी महिला मित्र के साथ शॉपिंग करते हुए नजर आते थे. इस वजह से कई बार विधानसभा में अपने मंत्रालय से संबंधित सवाल का भी गलत जवाब दे गये थे. इससे नाराज होकर 2018 के नवंबर महीने में मुख्यमंत्री ने उनसे अग्निशमन मंत्रालय छीन लिया और मेयर पद से भी इस्तीफा देने को कहा था. शोभन ने भी इस्तीफा दे दिया था और उनकी जगह राज्य के शहरी विकास मंत्री फिरहाद हकीम को कोलकाता का मेयर बना दिया गया था. शोभन चटर्जी लगातार पार्टी से दूरी बना कर रखे हुए थे.

पहले तो तृणमूल कांग्रेस ने उन्हें दरकिनार करके रखा, लेकिन जब 2019 के लोकसभा चुनाव में उनके बेहला इलाके में तृणमूल कांग्रेस को कम वोट मिले, तो उसके बाद तृणमूल को शोभन की अहमियत समझ में आ गयी थी. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी कई बार उनके साथ बैठक करने की कोशिश की. उन्हें बुलाया लेकिन शोभन नहीं गये. वह अब दिल्ली जा पहुंचे हैं. जल्द ही भाजपा का दामन थामनेवाले हैं. प्रदेश भाजपा के सूत्रों ने बताया कि बुधवार तक वह भाजपा में शामिल होंगे. उनके साथ बैसाखी बनर्जी भी भाजपा का दामन थाम लेंगी. बताया गया है कि दक्षिण कोलकाता में उन्हें महत्वपूर्ण जिम्मेवारी दी जायेगी.

इसे भी पढ़ें – भाजपा सांसद समीर उरांव के भाई के सीएनटी जमीन खरीदने पर कांग्रेस ने बोला जोरदार हमला, कहा- भ्रष्टाचार में लिप्त है रघुवर सरकार

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like