न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

BCCI का अध्यक्ष बनते ही सौरव गांगुली को लगेगा सात करोड़ का झटका

645

Kolkata: दुनिया के सबसे धनी क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (बीसीसीआइ) का अध्यक्ष बनते ही बंगाल के राजकुमार कहे जाने वाले टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली को सात करोड़ का झटका लगने वाला है.  एक रिपोर्ट से इस बात का खुलासा हुआ है.

आगामी 23 अक्टूबर को सौरव गांगुली के नेतृत्व में बीसीसीआइ के प्रशासकों की नई टीम कमान संभाल लेगी. उसके बाद गांगुली 10 महीनों तक बोर्ड के अध्यक्ष के तौर पर काम करेंगे.

इसे भी पढ़ें- जीरो टॉलरेंस सरकार में चोरी हो गयीं #MNREGA से बनी 4 करोड़ की 40 सड़कें

कैसे होगा सात करोड़ा का नुकसान

Trade Friends

इस बीच उन्हें सात करोड़ का नुकसान कैसे होगा इस बारे में रिपोर्ट में बताया गया है कि गांगुली फिलहाल क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बंगाल के अध्यक्ष भी हैं. इसके अलावा वह विभिन्न क्रिकेट मैचों में कमेंट्री भी करते हैं. क्रिकेट से जुड़े टीवी शो में एक्सपोर्ट की भूमिका भी निभाते हैं

आइपीएल में दिल्ली कैपिटल्स की टीम के साथ बतौर मेंटर काम कर रहे थे लेकिन बीसीसीआइ के अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी संभालने के बाद इन सभी कार्यों को अलविदा कहना होगा.

इसके लिए उन्हें मीडिया कॉन्ट्रैक्ट रद्द करने होंगे. सभी विज्ञापनों के लिए मौजूदा सभी वाणिज्यिक करारों को खत्म करना होगा. वह कमेंट्री भी नहीं कर पाएंगे और आइपीएल में दिल्ली कैपिटल्स की टीम के मेंटर के तौर पर भी काम नहीं कर सकेंगे. इन तमाम कार्यों को छोड़ने के कारण उन्हें सात करोड़ रुपये का नुकसान होगा.

इसे भी पढ़ें- #JharkhandPolice ने HC को सौंपे दागी जनप्रतिनिधियों के ब्योरे में CM, तीन मंत्रियों व सांसद का नाम छिपाया

पांच सालों से क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बंगाल के अध्यक्ष हैं गांगुली

दरअसल बीसीसीआइ के नए नियमों के अनुसार कोई भी सदस्य लगातार एक साथ बोर्ड से जुड़े दो पदों पर नहीं रह सकता. क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बंगाल भी बीसीसीआइ का एक हिस्सा है इसलिए उन्हें वह पद भी छोड़ना होगा.

वैसे बोर्ड के नये नियमों के अनुसार कोई भी सदस्य लगातार छह सालों तक किसी एक पद पर रह सकता है. उसके बाद उसे पद छोड़ना ही होगा. सौरव गांगुली पिछले पांच सालों से क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बंगाल के अध्यक्ष हैं. ऐसे में उन्हें एक साल पहले ही यह पद छोड़ देना पड़ेगा. जिसके कारण उन्हें नुकसान उठाना पड़ सकता है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like