न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

विहिप की धर्मसभा में बोले भैया जी जोशी,  हिंदू भावनाओं का सम्मान करे कोर्ट  

विराट धर्मसभा में लगभग डेढ़ लाख लोग शामिल हुए है. रैली को देखते हुए रामलीला मैदान में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं.

50

NewDelhi : दिल्ली के रामलीला मैदान में  रविवार को  विश्व हिन्दू परिषद  की ओर से आयोजित धर्मसभा में देश भर के साधू संतों का जुटान हुआ है. कहा गया  कि विराट धर्मसभा में लगभग डेढ़ लाख लोग शामिल हुए है. रैली को देखते हुए रामलीला मैदान में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं. रामलीला मैदान में भारी पुलिस बल तैनात  है. सीसीटीवी कैमरे लगाये गये हैं. विश्व हिंदू परिषद ने गाजियाबाद, गौतम बुद्ध नगर, बागपत और मेरठ से लोगों को बुलाया है. सुबह 11 शुरू हुआ कार्यक्रम शाम चार बजे तक चलेगा. धर्म सभा में जूना अखाड़ा पीठाधीश्वर महा-मण्डलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरी महाराज, श्रीजगन्नाथ पीठाधीश्वर जगद्गुरू रामानंदाचार्य स्वामी हंसदेवाचार्य, गीता मनीषी महा-मण्डलेश्वर स्वामी ज्ञानानंद , युग पुरुष परमानंद, वात्सल्य ग्राम संस्थापक दीदी मां साध्वी ऋतंभरा, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सरकार्यवाह सुरेश (भैया जी) जोशी, विहिप के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष न्यायमूर्ति (सेवानिवृत) विष्णु सदाशिव कोकजे व कार्याध्यक्ष एडवोकेट आलोक कुमार सहित अनेक पूज्य संत व गणमान्य लोग शामिल हैं.

मंदिर बनाने की घोषणा उन्हीं लोगों ने की है जो आज सत्ता में हैं

आरएसएस के भैया जी जोशी ने सभा में कहा कि हम आंदोलन करते हुए यही चाहते हैं कि हममें न्यायालय के प्रति अविश्वास का भाव ना जागे. इसलिए मंदिर के पक्ष में फ़ैसला सुनायें. कहा कि हिंदू भावनाओं का सम्मान करे कोर्ट. अयोध्या में ही मंदिर बनेगा और मंदिर बनाने की घोषणा उन्हीं लोगों ने की  है जो आज सत्ता में बैठे हैं. अब इस संकल्प को पूरा करने का समय आ गया है. अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए कानून के अलावा कोई विकल्प नहीं है. भाजपा राम मंदिर पर अपना किया संकल्प पूरा करे. 1992 में काम अधूरा रह गया था.  वीएचपी प्रवक्ता विजय शंकर तिवारी ने कहा कि हमारी मांग है सरकार मौजूदा सत्र में कानून लाकर मन्दिर निर्माण में बाधा दूर करें.

JMM

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like