न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राहुल गांधी की सुरक्षा में चूक को एसपीजी ने नकारा,  गृह मंत्रालय ने कहा, लेजर लाइट कांग्रेस के कैमरामैन की

कांग्रेस ने दावा किया कि वीडियो में दिख रहा है कि कम-से-कम सात बार राहुल गांधी पर ग्रीन कलर की लेजर लाइट दिखाई दी.  उनमें से कुछ बार वह उनकी कनपटी के आसपास देखी गयी थी.

56

NewDelhi : अमेठी में पर्चा भरने के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की सुरक्षा में चूक के पार्टी के आरोप को स्पेशल प्रटेक्शन ग्रुप (एसपीजी) ने नकार दिया है.  एसपीजी ने गृह मंत्रालय को बताया है कि जिस लेजर लाइट का कांग्रेस जिक्र कर रही है, वह उन्हीं के कैमरामैन के मोबाइल फोन की है.  दरअसल, कांग्रेस ने राहुल की सुरक्षा में चूक का आरोप लगाया था.  इसमें कहा गया था कि अमेठी में पर्चा भरने के दौरान राहुल पर हमले की तैयारी थी;  अब इसपर केंद्र का जवाब आया है. गृह मंत्रालय ने सबसे पहली बात यह कही कि उन्हें कांग्रेस की तरफ से अभी तक कोई लिखित शिकायत नहीं मिली है, वीडियो सामने आने के बाद उन्होंने एसपीजी से सफाई मांगी थी.  

इसे भी पढ़ेंः सोनिया ने रोड शो किया, रायबरेली से नामांकन किया, कहा, हम ही चुनाव जीतेंगे

Trade Friends

सात बार राहुल गांधी पर ग्रीन कलर की लेजर लाइट दिखाई दी

WH MART 1

गृह मंत्रालय के अनुसार एसपीजी के डायरेक्टर ने उन्हें बताया कि जो हरी लाइट वीडियो में दिखाई दे रही है, वह AICC के कैमरामैन द्वारा इस्तेमाल किये जा रहे फोन की है बता दें कि इस पहले एक पत्र सामने आया था, जिसे कांग्रेस की तरफ से सीनियर नेता अहमद पटेल, जयराम रमेश और रणदीप सुरजेवाला ने भेजा था. पत्र में कांग्रेस ने राहुल की जान को खतरा बताया था.  सुरक्षा में चूक के लिए कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है. बता दें कि राहुल गांधी  बुधवार को अमेठी गये थे.  वहां उनके साथ मां सोनिया गांधी के अलावा पूरा वाड्रा परिवार भी था.  नामांकन भरने के बाद राहुल ने मीडिया से बात की थी.  उसी समय का एक वीडियो कांग्रेस द्वारा दिखाया गया है. वही वीडियो मंत्रालय को भी भेजा गया है.

  कांग्रेस ने दावा किया कि वीडियो में दिख रहा है कि कमसेकम सात बार राहुल गांधी पर ग्रीन कलर की लेजर लाइट दिखाई दी.  उनमें से कुछ बार वह उनकी कनपटी के आसपास देखी गयी थी.  केंद्र को लिखे गये पत्र में कांग्रेस ने सभी तरह के राजनीतिक मतभेद किनारे रखकर उनकी सुरक्षा को प्रमुख बताया है.  पत्र में राहुल के पिता और दादी पर हुए हमलों का भी जिक्र किया गया है. पत्र में लिखा गया है कि इस तरह साजिश करके देश के दो पूर्व पीएम इंदिरा गांधी और राजीव गांधी को मारा गया उसने पूरे देश को हिला दिया था.  पत्र में आगे मामले की जांच कर उचित कार्रवाई की मांग की गयी है.

इसे भी पढ़ेंः  पीएमओ के आठ अधिकारी नाखुश! चाहते हैं अपना ट्रांसफर, वीआरएस भी ले सकते हैं

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like