न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राज्य शिक्षा परियोजना का आदेश: ई विद्यावाहिनी एप्प के जरिये जानकारी देने वाले शिक्षकों मिलेगा तीन सौ रुपये

आचार संहिता लागू होने के बाद से टैब की जगह मोबाइल फोन में एप्प से जानकारी दे रहे शिक्षक

189

Ranchi : राज्य शिक्षा परियोजना की ओर से राज्य के सभी स्कूलों को आदेश दिया गया कि शिक्षक व्यक्तिगत मोबाइल फोन के जरिये बायोमैट्रिक समेत अन्य जानकारी देंगे. इसी संबध में 14 नंवबर को परियोजना की ओर से अन्य पत्र जारी किया गया. जिसमें बताया गया कि शिक्षकों को प्रत्येक माह व्यक्तिगत मोबाइल फोन में रिचार्ज कराने के लिए 300 रूपये दिये जायेंगे.

इससे पहले परियोजना की ओर से पांच नवंबर को पत्र जारी करते हुए कहा गया कि शिक्षक ई विद्यावाहिनी एप्प मोबाइल में डाउनलोड कर ई विद्यावाहिनी से संबधित जानकारी डीईओ को देंगे.

JMM

हालांकि इससे पहले शिक्षक टैब के जरिये सारी जानकारी अपलोड करते थे. लेकिन आचार संहिता लागू होने के बाद विभाग की ओर से इस पर प्रतिबंध लगा दिया गया. परियोजना की ओर से एक स्कूल में एक शिक्षक के लिए विद्यालय विकास अनुदान से देने की बात कहीं.

परियोजना की ओर से पत्र जिला शिक्षा पदाधिकारी और जिला शिक्षा अधीक्षक को लिखी गयी है. ई विद्यावाहिनी के तहत शिक्षक एप्प से सारी जानकारी डीईओ और डीएसई को देते हैं.

इसे भी पढ़ें – #JharkhandElection के ठीक पहले निकाली गयी पांच विभिन्न पदों पर वैकेंसी, इनमें दो पर बैकलॉग का भारी बोझ

Related Posts

स्कूल को टैब नहीं मिलने पर भी आदेश लागू

इस पत्र में कहा गया कि पहले टैब के जरिये शिक्षक बायोमैट्रिक, छात्रों की उपस्थिति, मिड डे मील आदि की जानकारी देते थे. ऐसे में पहले जिन स्कूलों को टैब नहीं दिया गया है, उन स्कूलों के शिक्षकों को भी व्यक्गित मोबाइल फोन में उक्त जानकारी अपलोड करनी है. रिचार्ज फंड स्कूल के प्रधान शिक्षक या सहायक शिक्षक को दी जानी है.

ऐसे में अगर स्कूल में दोनों में से किसी भी शिक्षक के पास एंड्रॉयड फोन उपलब्ध न हो तो किसी अन्य शिक्षक के मोबाइल से जानकारी दी जा सकती है. इसके लिए उस शिक्षक के मोबाइल में ई विद्यावाहिनी एप्प इंस्टॉल करना होगा.

इस स्थिति में प्रत्येक माह तीन सौ रूपये उक्त शिक्षक को मिलेगा. ई विद्यावाहिनी की मॉनिटरिंग  प्रखंड और जिलावार की जा रही है. इसके पहले शिक्षकों की ओर से जानकारी मिली कि विभागीय सर्वर डाउन रहने के कारण एप्प में जानकारी अपलोड नहीं हो पाती. जिसके बाद विभाग की ओर से यह कदम उठाया गया.

इसे भी पढ़ें – पारा शिक्षक और पंचायत स्वंय सेवक घर-घर जाकर कोस रहे #BJP को, रसोईया संयोजिका दबायेंगी नोटा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like