न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

डीवीसी के उत्थान और प्रगति में बराबर के सहभागी हैं सप्लाई मजदूर : पूर्व डीजीएम

सप्लाई मजदूरों के पे-रिवीजन पर डीवीसी के निवर्तमान डीजीएम ने जतायी प्रसन्नता

113

Bermo :  बोकारो थर्मल डीवीसी के अवकाश प्राप्त डीजीएम पीके सिंह ने 22 फरवरी को कोलकाता में संपन्न सप्लाई मजदूरों के पे रिवीजन मसले पर प्रसन्नता व्यक्त की. कहा कि चंद्रपुरा एवं बोकारो थर्मल के सप्लाई मजदूरों के लंबित पे-रिवीजन का सकारात्मक वार्ता के साथ संपन्न हो जाना अपने आप में बड़ी उपलब्धि है.

सार्वजनिक व निजी प्रतिष्ठान में डीवीसी का संस्थान एक मिशाल

कहा कि उनकी बेहद इच्छा थी कि उनके कार्यकाल में दोनों ही विद्युत केंद्र के लगभग 11 सौ  सप्लाई मजदूरों की मांगों का निबटारा वार्ता से हो जाये. क्योंकि वे सभी श्रमिकों से व्यक्तिगत तौर पर अपने पदस्थापन काल से जुड़ा रहा. साथ ही उपरोक्त पे-रिवीजन कमेटी का नामित सदस्यों में से एक रहते हुए पांच बार की वार्ता में शामिल भी रहा. उन्होंने कहा कि सप्लाई मजदूर वर्तमान में डीवीसी के उत्थान एवं प्रगति के लिए बराबर के सहभागी है जिसे नकारा नहीं जा सकता है.

JMM

भारत के औद्योगिक प्रबंधन, सार्वजनिक व निजी प्रतिष्ठान में डीवीसी का संस्थान एक मिशाल है, जहां पर सप्लाई मजदूरों को   लगभग स्थायी मजदूरों की तरह मजदूरी, भत्तों, अवकाश, कार्य अवधि, स्कूल, प्रशिक्षण, अस्पताल और अन्य सुविधाओं को वर्षों से दिया जा रहा है. कहा कि समझौता संपन्न करवाने के लिए डीवीसी प्रबंधन, ईडी एचआर एके वर्मा सहित शीर्ष प्रबंधन, समिति के यूनियन और प्रबंधन सदस्य सभी बधाई के पात्र हैं. डीवीसी की ओर से सभी मजदूरों को होली का यह एक बेहतर उपहार है. विदित हो कि डीवीसी बोकारो थर्मल के डीजीएम 31 जनवरी को अवकाश ग्रहण कर गये.

इसे भी पढ़ें : विश्व स्तर पर हिंदी की जड़ें गहरी और विस्तृत हैं : कमलेश कुमार

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like