न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आश्चर्य : अशोक नगर कॉलोनी वासियों ने रेन वाटर हार्वेस्टिंग कराया,  लेकिन निगम मांग रहा डेढ़ गुना होल्डिंग टैक्स

मामला राजधानी के पॉश इलाके में शुमार अशोक नगर कॉलोनी के 400 के करीब घरों से जुड़ा है

244

Ranchi : रांची नगर निगम ने राजधानी के कई घरों को स्मार्ट घर होने पर होल्डिंग टैक्स में छूट देने की घोषणा की है. ऐसे घरों में रैन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम होना जरूरी है. लेकिन जब किसी कालोनी के कई घरो में रैनवाटर हार्वेस्टिंग कराया गया है, तो भी निगम ऐसे घरों से डेढ़ गुना होल्डिंग टैक्स की मांग कर रहा है. मामला राजधानी के पॉश इलाके में शुमार अशोक नगर से जुड़ा है. निगम ने कॉलोनी के कई घरों के रिटायर्ड अफसर को नोटिस दिया है कि आपके घर में रैनवाटर हार्वेस्टिंग नहीं है,

Trade Friends

इसलिए आपको डेढ़ गुना टैक्स जमा कराना होगा. जबकि कालोनी के लोगों का कहना है कि उन्होंने डेढ़ दो साल पहले ही रैन वाटर हार्वेस्टिंग का निर्माण करा लिया है तो फिर निगम डेढ़ गुना टैक्स वसूलने की नोटिस उन्हें क्यों भेज रहा है. जानकारी है कि नोटिस जारी करने वाले घरों की संख्या करीब 400 के आसपास हैं.अशोक नगर कॉलोनी में कुल 508 घर हैं.

इसे भी पढ़ें : रिम्स में हर रस्म के लगते हैं पैसे…शेविंग के 150, लाश पहुंचाने के 300 और भी बहुत कुछ

 2016 में लागू होल्डिंग टैक्स नियमावली में बनाना था सिस्टम

निगम ने वर्ष 2016 में शहर में नये होल्डिंग टैक्स नियमावली को लागू किया गया था. नियमावली में यह प्रावधान किया गया कि जिन घरों में रैन वाटर हार्वेस्टिंग नहीं होगा. उन घरों से डेढ़ गुणा होल्डिंग टैक्स वसूला जायेगा. निगम के इस प्रावधान के बाद अशोक नगर कॉलोनी के अधिकतर घरों ने रैन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम का निर्माण कराया. लेकिन अब उसी निगम द्वारा हाल ही इस कॉलोनी के सभी घरों को नोटिस भेज कहा है कि अपने अपने घरों में अभी तक रैनवाटर हार्वेस्टिंग नहीं कराया है, इसलिए आपको निगम में डेढ़ गुणा टैक्स जमा करना होगा. निगम के इस नोटिस के बाद इस कॉलोनी के अधिकतर रिटायर्ड कर्मचारी हैरत में हैं कि जब उन्होंने डेढ़-दो साल पहले ही रैन वाटर हार्वेस्टिंग का निर्माण करा लिया है तो फिर निगम डेढ़ गुणा टैक्स वसूलने पर क्यों उतारू हो गया है.

WH MART 1

 508 घरों में से 400 के करीब घरों को नोटिस

निगम के राजस्व शाखा के मुताबिक अशोक नगर कॉलोनी में कुल 508 भवन हैं, जिसमें से निगम होल्डिंग टैक्स मिलता है. इसमें से 400 के करीब भवनों को निगम ने नोटिस जारी किया है. नोटिस के माध्यम से इन भवनों के मालिकों से कहा गया है कि चूंकि आपके घर में रैन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम नहीं है, इस कारण आपको डेढ़ गुणा होल्डिंग टैक्स जमा करना होगा. जानकारी है कि निगम की राजस्व शाखा ने रेन वाटर हार्वेस्टिंग नहीं होने का कारण दर्शाते हुए इन घरों से 45 से 85 हजार रुपये तक की राशि जुर्माने के रूप में जमा करने का निर्देश दिया है. कालोनी के एक सेवानिवृत्त अधीक्षण अभियंता की शिकायत हैं कि गलत नोटिस के जवाब में उन्होंने निगम में अबतक दो बार पत्र लिखा है लेकिन न तो पत्र का कोई जवाब दिया गया है, न ही टैक्स माफी के संबंध में निगम की तरफ से हमें कोई सूचना दी है.

दो से तीन दिन में होगा समस्या का समाधान

मामले को तूल पकड़ता देख अब निगम का राजस्व शाखा सचेत हो गयी है. शाखा प्रभारी के माने तो उन्हें भी अशोक नगर के लोगों की शिकायतें मिली हैं. शिकायतों को दूर करने के लिए निगम गंभीर है. निगम ने वहां के लोगों से अपील की है कि जब तक आपकी गड़बड़ी दूर नहीं होती है, तब तक पीड़ित मकान मालिक निगम में बढ़ा हुआ होल्डिंग टैक्स जमा न करें. अगले दो से तीन दिन के अंदर निगम इस समस्या समाधान निकाल लेगा.

इसे भी पढ़ें : JJMP के शशिकांत का आरोप, ‘पुलिस के नोट पढ़ बयान जारी करते हैं सबजोनल कमांडर’

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like