न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

TAX चोरी : तमिलनाडु और आंध्र में खनन कंपनियों के 100 से ज्यादा ठिकानों पर छापे

अधिकारियों ने जानकारी दी.

54

Chennai : आयकर विभाग ने गुरुवार को खनन एवं खनिज निर्यात कंपनियों के खिलाफ कर चोरी की जांच के सिलसिले में तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में 100 से अधिक ठिकानों पर छापेमारी की. अधिकारियों ने यह जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि तमिलनाडु के चेन्नई, कोयंबटूर, तिरुनेलवेली, तूतीकोरिन एवं कराइकल और आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम एवं श्रीकाकुलम में कम से कम चार ऐसे कारोबारी समूहों के ठिकानों पर तलाशी ली जा रही है.

JMM

इसे भी पढ़ें : सीबीआई में कौन था माल्या का मददगार? राकेश अस्थाना की जांच से सच सामने आ सकता था

आयकर अधिकारियों ने एक कंपनी की पहचान तमिलनाडु के वी वी मिनरल्स के तौर पर की है.

कर चोरी के आरोप में छानबीन

अधिकारियों ने बताया कि आयकर विभाग के 130 से ज्यादा अधिकारी सुरक्षा एवं पुलिसकर्मियों की मदद से इस अभियान को अंजाम दे रहे हैं.

Related Posts

#Gujarat : पर्यटकों के मामले में स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी से आगे निकली स्टेच्यू ऑफ यूनिटी

अनावरण के सालभर बाद ही स्टेच्यू ऑफ यूनिटी को रोजाना देखने आने वाले पर्यटकों की संख्या अमेरिका के 133 साल पुराने स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी  के पर्यटकों से ज्यादा हो गयी है.

इसे भी पढ़ें : CBI विवादः राफेल घोटाले में पीएम को कार्रवाई की थी आशंका, इसलिए आलोक वर्मा को हटाया- कांग्रेस

उन्होंने बताया कि जिन कंपनियों की तलाशी ली जा रही है. वे खनन, समुद्र तटीय रेत खनिजों के प्रसंस्करण और निर्यात के काम में कथित तौर पर अवैध रूप से शामिल हैं. जिसकी वजह से आयकर विभाग उनके खिलाफ कर चोरी के आरोप की छानबीन कर रहा है.

कंपनियों ने कर कानूनों का किया उल्लंघन

अधिकारियों आगे कि कि इसके जरिए हासिल किया गया कथित अवैध मुनाफा इन समूहों ने चीनी मिलों, होटलों, इंजीनियरिंग कॉलेजों और होटल जैसे अपने अन्य कारोबार में लगाया.

इसे भी पढ़ें : उद्योगपतियों के पक्ष में पीएम मोदी, कहा- उद्योग व्यापार की आलोचना करने की संस्कृति में उनका विश्वास…

 अधिकारियों ने बताया कि इन कंपनियों ने कर कानूनों का उल्लंघन कर विदेशों से भी कुछ लेन-देन किया. विभाग इस पहलू की भी जांच कर रहा है. अधिकारी छापे के दौरान ऐसे दस्तावेजों की तलाश में हैं ताकि इन आरोपों की पुष्टि हो सके.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like