न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जीपीएस नहीं लगानेवाले चालकों को उठाना होगा प्रत्येक ट्रिप 1600 किलो कूड़ा

वार्ता के बाद समाप्त हुई निगम के ट्रैक्टर चालकों की हड़ताल

253

Ranchi : निगम के झिरी डंपिंग यार्ड के कचरा उठानेवाले ट्रैक्टर चालक हड़ताल खत्म कर गुरुवार को काम पर वापस लौट आये. उनकी कई मांगों को निगम द्वारा मान लिया गया है. इसमें वेतन बढ़ोतरी प्रमुख मांग है. इस मांग को निगम बोर्ड की बैठक में रखा जायेगा. निगम ने कहा है कि जो ट्रैक्टर चालक अपने वाहन में जीपीएस नहीं लगायेंगे उन्हें प्रति ट्रिप 1600 किलो कचरा डंपिंग यार्ड में गिराना होगा. मालूम हो कि वेतन बढ़ोतरी व अपनी अन्य मांगों को लेकर बुधवार को निगम के 150 ट्रैक्टर चालक हड़ताल पर चले गये थे. हड़ताल के कारण सुबह में किसी भी मोहल्ले से कूड़े का उठाव नहीं हुआ.

इसे भी पढ़ें – नक्शा पास करने के लिये नगर विकास विभाग को रोड बनाने वाले इंजीनियर घनश्याम अग्रवाल ही पसंद

बिना पूर्व सूचना के हड़ताल पर गये, तो होगी कार्रवाई

कचरे का उठाव नहीं होता देख दोपहर में निगम के सिटी मैनेजर ने ट्रैक्टर चालकों के साथ बात की. चालकों ने शर्त रखी कि वे अपने वाहन में जीपीएस नहीं लगायेंगे. इस पर निगम के सिटी मैनेजर ने कहा कि अगर वे ऐसा करते हैं, तो कोई बात नहीं, लेकिन उन्हें हर ट्रिप में कम से कम 1600 किलो कूड़ा उठा कर लाना होगा. इससे कम कूड़ा उठा कर लाने पर संबंधित ट्रैक्टर को किसी प्रकार का भुगतान नहीं किया जायेगा. इस पर भी सहमति बनी कि बिना किसी पूर्व सूचना के ट्रैक्टर चालक हड़ताल नहीं कर सकते हैं. अगर उनकी कोई मांग भी होगी तो उसे सबसे पहले अधिकारियों के समक्ष रखना होगा. उसके बाद ही वे हड़ताल पर जा सकते हैं. अचानक हड़ताल पर जाने पर संबंधित वाहन चालक पर निगम कार्रवाई करेगा.

इसे भी पढ़ें – लातेहार: एक सप्ताह से लापता दो बच्चों के शव मिले, बलि दिये जाने की आशंका 

बोर्ड की बैठक में आयेगा राशि बढ़ाने का प्रस्ताव

वार्ता में ट्रैक्टर चालकों द्वारा मासिक वेतन बढ़ाने की मांग पर सिटी मैनेजर ने कहा कि उनकी मांगों को निगम बोर्ड के समक्ष रखा जायेगा. बोर्ड की बैठक में अगर राशि बढ़ाने के प्रस्ताव को स्वीकृति मिल जाती है तो उनकी राशि भी बढ़ा दी जायेगी.

दिन भर में उठा केवल एक ट्रिप कूड़ा

दोपहर में सिटी मैनेजर से वार्ता के बाद ट्रैक्टर चालकों ने हड़ताल खत्म कर दी. जिसके बाद निगम के ट्रैक्टरों ने कूड़े का उठाव शुरू किया. हालांकि इसका असर यह हुआ कि दिन भर में केवल एक ट्रिप ही कूड़े का उठाव हुआ. इस कारण शहर की अधिकतर गलियों में कूड़ा पसरा रहा.

इसे भी पढ़ें – JPSC मुख्य परीक्षा की कॉपियों की जांच लटकी, महज पांच प्रोफेसर जांचने को हैं तैयार

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like