न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

महिलाओं को पढ़ाने की बात करने वाली सरकार महिला प्रसार पदाधिकारी सेवा नियमावली नहीं बना सकी है  

कैबिनेट में सेवा नियमावली 2015 में संशोधन कर सरकार अस्थायी कर्मियों के साथ करेगी अन्याय

78

Ranchi :   राज्य में अब तक महिला प्रसार पदाधिकारी सेवा नियमावली नहीं बन सकी है,  जो दुर्भाग्यपूर्ण है. राज्य का गठन हुए 18 साल हो गये. लेकिन इस विषय पर किसी भी सरकार ने कोई पहल नहीं की है. उक्त बातें भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के अजय कुमार सिंह ने कही. वे शनिवार को पार्टी कार्यालय में आयोजित बैठक को संबोधित कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने कहा कि राज्य सरकार बेटियों को पढ़ाने और आगे बढ़ाने की बात करती है.

वहीं दूसरी ओर इस सेवा नियमावली के लिए मौन है. जबकि पड़ोसी राज्यों में महिला प्रसार पदाधिकारी सेवा नियमावली बनी हुई है. जिससे महिलाएं लाभान्वित हो रही हैं. बिहार में भी नियमावली  बनी हुई है. लेकिन झारखंड में सिर्फ वर्तमान सरकार ही,  नहीं पहले की सरकारों ने भी कभी इस मामले में पहल नहीं की.

JMM

इसे भी पढ़ें – कई माह से नहीं मिला मानदेय, आर्थिक तंगी झेल रहे पारा शिक्षक की मौत

नियमितीकरण नियमावली 2015 में संशोधन करना चाहती है सरकार

उन्होंने कहा कि सरकार ने विगत दिनों हुई कैबिनेट की बैठक में यह फैसला लिया कि साल 2009 के पहले से कार्यरत कर्मचारियों का स्थायीकरण किया जायेगा. दूसरी और सरकार अनियमित रूप से कार्यरत कर्मचारियों के लिए बनी नियमितीकरण नियमावली 2015 में संशोधन करना चाहती है.

जो यह बताती है कि सरकार अस्थायी कर्मचारियों के प्रति सही नीति नहीं रखती. उन्होंने कहा कि सरकार के काल में बेरोजगारी में तेजी से वृद्धि हुई है. आने वाले समय में स्थिति भयावह हो सकती है. बैठक में राज्य में महिला प्रसार पदाधिकारी सेवा नियमावली लागू करने की मांग की गयी.

इसे भी पढ़ें – 18 साल बाद सरकार निजी संस्थानों के लिए बना रही है झारखंड एफिलिएशन पॉलिसी

30 जून को बिजली पानी को लेकर कार्यकर्ता प्रदर्शन करेंगे

बैठक की अध्यक्षता कर रहे सूबेदार राम ने कहा कि राज्य में बिजली पानी की समस्या गहराती जा रही है. वहीं महंगाई की मार भी लोग झेल रहे है. इस संबध में निर्णय लिया गया कि 30 जून को कार्यकर्ता इस संबध में प्रदर्शन करेंगे. इसके साथ ही किसानों की समस्या के लिए उपायुक्त को ज्ञापन सौंपने का निर्णय भी लिया गया.

बैठक में पार्टी से युवाओं को जोड़ने का निर्णय लिया गया. मौके पर राज्य सहायक सचिव महेंद्र पाठक, फरजाना फारूकी, सूबेदार राम, ललन सिंह, सुनील कुमार साह, इशहाक अंसारी, प्रिया प्रवीण, उमा देवी, लक्ष्मी लोहरा, उमेश नजीर समेत अन्य लोग उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें – 30 सितंबर तक 14 लाख महिलाओं को उज्ज्वला योजना के अंतर्गत गैस कनेक्शन दें: मुख्यमंत्री

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like