न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

…तो इस कारण से रुका मिशन ‘चंद्रयान-2’, सितंबर तक हो सकती है लॉन्चिंग

792

Shri Harikota: 15 जुलाई को इसरो को मिशन चंद्रयान-2 अचानक रोकना पड़ा था. अब इसकी वजह सामने आयी है.

जीएसएलवी-एमके-3 के क्रायोजेनिक इंजन में हीलियम लीकेज होने के कारण उड़ान पर रोक लगानी पड़ी. इस मिशन को लॉन्च होने से महज 56 मिनट पहले रोकना पड़ा था.

JMM

इसरो ने आधिकारिक तौर पर जीएसएलवी-एमकेआई 3 में आई तकनीकी खामी का हवाला दिया था. वहीं इसरो के पांच सूत्रों ने क्रायोजेनिक इंजन में फ्यूल लीकेज की पुष्टि की.

इसे भी पढ़ेंःव्यवसायियों का क्या टूट रहा मनोबल? देश में कारोबारी धारणा गिरकर तीन साल के निचले स्तर पर: सर्वे

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार, एक वरिष्ठ वैज्ञानिक ने बताया कि, ‘इंजन में लिक्विड ऑक्सीजन और लिक्विड हाइड्रोजन भरने के बाद हीलियम को भरने का काम चल रहा था.

Bharat Electronics 10 Dec 2019

हमें 350 बार तक हीलियम भरनी थी और आउटपुट को 50 बार पर सेट करना था, मगर तभी नोटिस किया कि हीलियम का प्रेशर तेजी से गिरने लगा. जो लीकेज की ओर इशारा कर रहा था.’

उन्होंने बताया कि टीम को अब इस बात का पता लगाना है कि लीकेज कहां पर है. ये भी हो सकता है कि यह कई जगह से हो.

सितंबर तक हो सकती है लॉन्चिंग

गौरतलब है कि चंद्रयान-2 मिशन में इससे पहले 22 जून को ग्राउंड टेस्ट के दौरान ऑक्सीजन टैंक में भी लीकेज की दिक्कत आयी थी. जिसे सही कर लिया गया.

और इसरो ने पहले से तय लॉन्च डेट (15 जुलाई) पर ही लॉन्चिंग को फिक्स रखा था. मिशन से जुड़ें एक अन्य सीनियर वैज्ञानिक ने बताया कि अब अगली लॉन्च डेट सितंबर के आसपास हो सकती है.

इसे भी पढ़ेंःकार्यकर्ताओं को बीजेपी दे रही आडवाणी का उदाहरण, पार्टी विचारधारा के विपरीत जाने पर जा सकता है पद

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like