न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#HowdyModi में मोदी के साथ ट्रंप साझा करेंगे मंच, 50,000 से अधिक भारतीय-अमेरिकी को करेंगे संबोधित

मोदी और ट्रंप के बीच इस साल यह तीसरी मुलाकात होगी.

945

Washington: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी 22 सितम्बर को आयोजित होने वाले कार्यक्रम ‘Howdy Modi’ में शिरकत करेंगे. जहां प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ वह भी भारतीय-अमेरिकी समुदाय को संबोधित करेंगे.


हालिया इतिहास में यह पहली बार होगा जब दो सबसे बड़े लोकंतत्रों के नेता एक संयुक्त रैली को संबोधित करेंगे. एनआरजी स्टेडियम में होने वाले कार्यक्रम ‘हाउडी मोदी! शेयर्ड ड्रीम्स, ब्राइट फ्यूचर’ के लिए रिकार्ड संख्या में 50,000 से अधिक लोगों ने पंजीकरण कराया है.

इसे भी पढ़ेंः58,000 करोड़ कर्ज के तले दबी #AirIndia को 2018-19 में 8,400 करोड़ का घाटा

Bharat Electronics 10 Dec 2019

गौरतलब है कि ‘हाउडी’ शब्द का प्रयोग ‘आप कैसे हैं?’ के लिए किया जाता है. दक्षिण पश्चिम अमेरिका में अभिवादन के लिए इस शब्द का प्रयोग किया जाता है.

मोदी-ट्रंप की साझा रैली

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव स्टेफनी ग्रिशम ने एक बयान में कहा, ‘ यह (मोदी-ट्रंप की साझा रैली होगी) अमेरिका और भारत के लोगों के बीच संबंधों को मजबूत करने, दुनिया के सबसे पुराने एवं सबसे बड़े लोकतंत्रों के बीच रणनीतिक साझेदारी की पुन: पुष्टि करने और उनकी ऊर्जा तथा व्यापारिक संबंधों को गहरा करने के तरीकों पर चर्चा करने का बेहतरीन मौका होगा.’

यह पहला मौका होगा जब कोई अमेरिकी राष्ट्रपति एक ही स्थान पर इतनी बड़ी संख्या में मौजूद भारतीय-अमेरिकियों को संबोधित करेंगे.

Related Posts

#Imran सरकार में  हिंदू, ईसाईयों पर बढ़ रहे हैं हमले,  महिलाएं और लड़कियां शिकार हो रही हैं: UN

आयोग का कहना है कि इस्लामी राष्ट्र में विशेष रूप से ईसाई और हिंदू समुदाय खासतौर से महिलाएं और लड़कियां कमजोर हैं. हर साल हजारों को अगवा करके धर्मांतरण के बाद मुस्लिम व्यक्ति से शादी कराई जाती है.

अमेरिका में भारत के राजदूत हर्षवर्धन श्रृंगला ने कहा कि ट्रंप का ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में हिस्सा लेना ‘ऐतिहासिक’ और ‘अभूतपूर्व’ है. श्रृंगला ने न्यूज एजेंसी पीटीआई से कहा, ‘‘ यह दोस्ती तथा सहयोग के मजबूत रिश्तों को दर्शाता है, जो भारत और अमेरिका के बीच विकसित हुए हैं.’’

इसे भी पढ़ेंः#Dhullu तेरे कारण : व्यवसायी का आरोप-  ढुल्लू जहां देखते हैं खाली जमीन, उस पर बाउंड्री बना कर लेते हैं कब्जा

50,000 से अधिक अमेरिकी-भारतीयों को करेंगे संबोधित

राजदूत ने व्हाइट हाउस की घोषणा का स्वागत करते हुए कहा, ‘ यह अभूतपूर्व एवं ऐतिहासिक है और भारत-अमेरिका के बीच करीबी संबंधों को दर्शाता है.’ राजदूत ने कहा कि दोनों नेताओं का कार्यक्रम को संबोधित करना एक बड़ी मिसाल कायम करता है, जो अपरंपरागत एवं अनोखी है.

श्रृंगला ने कहा, ‘ प्रधानमंत्री मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप का 50,000 से अधिक अमेरिकी-भारतीयों (अधिकतर अमेरिकी नागरिकों) को संबोधित करना ऐतिहासिक होगा.’

व्हाइट हाउस के एक अधिकारी ने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी ने फ्रांस में जी-7 शिखर सम्मेलन के दौरान ट्रंप के साथ हुई मुलाकात में इसका अनुरोध किया था. भारत जी-7 का हिस्सा नहीं है, लेकिन फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने उसे विशेष अतिथि के तौर पर आमंत्रित किया था. अधिकारी ने कहा कि ट्रंप ने तुरन्त ही प्रस्ताव स्वीकार कर लिया था.

मोदी और ट्रंप के बीच इस साल यह तीसरी मुलाकात होगी. जी-7 से पहले दोनों नेताओं ने जून में जापान में आयोजित जी-20 शिखर सम्मेलन से इतर मुलाकात की थी.

इसे भी पढ़ेंः#ChamberElection : कुणाल आजमानी अध्यक्ष बने, अश्विनी राजगढ़िया महासचिव

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like