न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

यूके सरकार दुनिया भर में कमजोर श्रमिकों के हितों की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध : ब्रिटिश उच्चायुक्त

सुरक्षित प्रवासन परियोजना शुरू, ओरिएंट क्राफ्ट ने तीन हजार युवतियों को प्रशिक्षित कर रोजगार से जोड़ा

765

Ranchi : झारखंड में पलायन एक बड़ी समस्या है. बाहर जाकर रोजगार की तलाश में युवक-युवतियों को शोषण का शिकार भी होना पड़ता है. इसी के मद्देनजर सुरक्षित पलायन और स्थानीय स्तर पर रोजगार उपलब्ध कराने के मकसद से व्रिटिश हाई कमिश्नर के सहयोग से व्रिटिश उच्चायुक्त डोमिनिक अक्विथ ने इरबा में ओरिएंट क्राफ्ट कारखाने के साथ मिलकर सुरक्षित प्रवासन परियोजना शुरू की.

यह परियोजना यूके सरकार और मार्क्स एंड स्पेंसर द्वारा संयुक्त रूप से वित्त पोषित, भारतीय पार्टनर होप इन एक्शन (PHIA) फाउंडेशन के साथ शुरू की गयी है.

Trade Friends

इसे भी पढ़ें : पलामू: कोयल पुल से युवती ने लगायी छलांग, जान पर खेल कर छह युवकों ने बचायी जान

कारखाना श्रमिकों पर शोध और जागरूकता के लिए शुरू हुई परियोजना

झारखंड से पलायन कर कपड़ा कारखानों एवं घरेलू कामगार के रूप में बड़े पैमाने पर श्रमिक दिल्ली-एनसीआर सहित बड़े शहरों में रोजगार की तलाश में जाते है. वहां अक्सर शोषण और काम करने की बदतर स्थिति का सामना करना पड़ता है.

पलायन और रोजगार की तलाश में जाने वाले युवाओं में श्रमिक शोध और जागरूकता को बढ़ावा देने के मकसद से यह परियोजना शुरू की गयी है.

कार्यक्रम के उद्वाटन के मौके पर व्रिटिश उच्चायुक्त डोमिनिक अस्क्विथ ने कहा, “मैं जाने-माने ब्रिटिश ब्रांड मार्क्स एंड स्पेंसर के साथ श्रमिकों के लिए परियोजना शुरू कर खुश हूं. यूके सरकार दुनिया भर में सबसे कमजोर श्रमिकों की रक्षा करने के लिए प्रतिबद्ध है. ब्रिटेन और भारत एक साथ काम करने के लिए एक वैश्विक बल के रूप में काम कर रहे हैं.”

महिलाओं को रोजगार देने के लिए राज्य सरकार प्रतिबद्ध : उद्योग सचिव

कार्यक्रम को सबोधित करते हुए झारखंड के उद्योग सचिव के रवि कुमार ने कहा, “यह सुनिश्चित हो सके कि झारखंड की महिलाओं को ऐसी स्थिति का सामना न करना पड़े जो उन्हें आजीविका के अवसर की तलाश में राज्य छोड़ने के लिए मजबूर करता है. उन्होंने अधिक से अधिक महिलाओं को रोजगार देने और उन्हें सशक्त बनाने के लिए राज्य प्रशासन की प्रतिबद्धता दोहरायी.

WH MART 1

रिस्पॉन्सिबल सोर्सिंग के प्रमुख फियोना सैडलर ने कहा कि मार्क्स एंड स्पेंसर ने मानव अधिकार पर एक मौलिक हिस्से के तौर पर जोर दिया है. उन्होंने आधुनिक दासता के सभी रूपों को मिटाने और सुरक्षित प्रवास को बढ़ावा देने की अपनी प्रतिबद्धता पर बात की.

मार्क्स एंड स्पेन्सर की भारत क्षेत्र की प्रमुख निधि दुआ ने कहा, “हम केवल उन्हीं समुदायों की तरह मजबूत हैं जिनमें हम काम करते हैं और मार्क्स एंड स्पेंसर में हम अपने आपूर्तिकर्ताओं को उचित मूल्य देने के लिए प्रतिबद्ध हैं, स्थानीय समुदायों का समर्थन करते हैं और हमें आपूर्ति श्रृंखला में काम करने की अच्छी स्थिति सुनिश्चित करना है.”

इसे भी पढ़ें : देखें VIDEO : आखिर किस वजह से बीच सड़क पर भिड़ गयीं लड़कियां!

परिधान के क्षेत्र में पलायन रोकने की पहल

PHIA फाउंडेशन के निदेशक आनंद कुमार बोलिमेरा ने कहा, ”हम परिधान क्षेत्र में जिम्मेदार प्रवासन को बढ़ावा देने के लिए ब्रिटिश उच्चायोग और एमएंडएस के साथ इस साझेदारी के लिए उत्साहित हैं. PHIA फाउंडेशन गरीब और सबसे अधिक हाशिए पर रहने वाले समूहों को सशक्त बनाने और उनकी सुरक्षा, अधिकारों और अधिकारों के प्रति प्रवासी समुदायों के बीच जागरूकता बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है.”

ओरिएंट क्राफ्ट के अध्यक्ष और एमडी सुधीर ढींगरा ने झारखंड सरकार का इस बात के लिए धन्यवाद दिया कि रांची में ओरिएंट क्राफ्ट की स्थापना में पूरे दिल से सहयोग मिला. कारखाना विशेष रूप से उन उत्पादों पर ध्यान देगा जिससे लोगो को गुणवतापूर्ण रोजगार मिले.

इसे भी पढ़ें : लातेहार: एसीबी ने घूस लेते मनिका एसआई को पकड़ा, खिड़की से कूदकर फरार हुआ SI

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like