न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पश्चिम बंगाल में फिर हिंसा, बीजेपी ने लगाया टीएमसी पर फर्जी वोटिंग और मारपीट का आरोप

65

Kolkata : लोकसभा चुनाव के सातवें और आखिरी चरण में भी पश्चिम बंगाल में एक बार फिर से  हिंसा हो ही गई. पिछले छह चरणों में भी बंगाल में हिंसा हुई थी. टीएमसी और बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच कई बार झड़प चुनाव के दौरान देखने को मिली. सातवें चरण के दिन भी जाधवपुर में हिसा हुई है. बीजेपी उम्मीदवार प्रोफेसर अनुपम हाजरा ने कई बूथों पर टीएमसी के द्वारा गड़बड़ी करने के अलावा बीजेपी कार्यकर्ताओं की पिटाई करने का भी आरोप लगाया है.

चेहरा ढककर की जा रही फर्जी वोटिंग

साथ ही हाजरा ने आरोप लगाया है कि टीएमसी महिला कार्यकर्ताओं के द्वारा अपने चेहरे को कपड़े से ढककर फर्जी वोटिंग किया जा रहा है. टीएमसी से बीजेपी में आए अनुपम हाजरा ने आरोप लगाया है कि टीएमसी की महिला कार्यकर्ता बूथ नंबर 150/137 पर चेहरा ढककर फर्जी वोट जाल रही है. ये आरोप हाजरा ने बूथ का दौरा करने के बाद लगाया है. साथ ही आरोप लगाया कि जब इसपर हमारी ओर से आपत्ति जतायी गयी तो टीएससी की ओर से पोलिंग बूथ पर हंगामा किया जाने लगा.

Jmm 2

हाजरा ने कहा कि, टीएमसी के गुंडों ने बीजेपी के मंडल अध्यक्ष और ड्राइवर की भी पिटाई की है और उनके कार पर हमला किया  गया है. साथ ही कहा कि हमने टीएमसी वालों से अपने 3 पोलिंग एजेंटों को भी बचाया है. हाजरा ने बताया कि टीएमसी के गुंडे 52 बूथों पर गड़बड़ी कर रहे हैं. क्योंकि लोग बीजेपी के वोट करना चाहता हैं , लेकिन वे उन्हें वोट डालने नहीं दे रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – खंडौली डैम का जलस्तर 13 फीट घटा, ट्रीटमेंट प्लांट के कर्मी का दावा, पेयजलापूर्ति में कोई समस्या नहीं…

दो बूथों पर पिटाई का आरोप

दूसरी ओर पश्चिम बंगाल के मथुरापुर में भी महिला मतदाताओं की ओर से बूथ कैप्चरिंग का आरोप लगाया गया है. मोगराहाट में सड़क पर कई महिलाएं हाथों में डंडे लेकर उतरीं ओर बूथ कैप्चरिंग का  का आरोप लगाकर विरोध करने लगीं.

Bharat Electronics 10 Dec 2019

कोलकाता दक्षिण संसदीय सीट की कसबा विधानसभा में भी दो बूथों पर मतदाताओं की पिटाई की बात सामने आयी है. वहीं  बसीरहाट लोकसभा सीट से लड़ रहे बीजेपी कैंडिडेट सायंतन बसु ने टीएमसी कार्यकर्ताओं पर लोगों को वोट देने से रोकने का आरोप लगाया है. बसु ने आरोप गलाया है कि 100 लोगों को वोट डालने से रोका गया है और हम उन्हें मतदान के लिए लेकर जायेंगे.

इसके अलावा बीजेपी ने दमदम संसदीय क्षेत्र के कई बूथों पर टीएमसी के कार्यकर्ता को लोगों को वोट देने से रोकने का आरोप भी लगाया है. कोलकाता दक्षिण से टीएमसी कैंडिडेट माला रॉय ने भी आरोप लगाया है कि जब वे अपना वोट डालने पहुंचीं तो केंद्रीय बलों के जवानों ने उन्हें बूथ के अंदर जाने से रोक दिया.

इसे भी पढ़ें – आइटी और ई-गवर्नेंस विभाग ने पांच वर्षों में बजट का 50 प्रतिशत ही खर्च किया

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like