न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नक्सल हमलों और बहिष्कार के बीच बस्तर लोकसभा संसदीय सीट के लिए मतदान जारी

नक्सली नहीं डिगा सके लोगों का हौसला, वोटिंग के लिए लोगों की लगी कतार

510

Raipur: छत्तीसगढ़ में लोकसभा चुनाव के पहले चरण के लिए गुरुवार सुबह बस्तर में कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान शुरू हो गया. मंगलवार को हुए नक्सली हमले और नक्सलियों के चुनाव बहिष्कार के ऐलान के बावजूद लोगों का हौसला कायम है. बड़ी संख्या में लोग अपने घरों से वोट डालने के लिए निकल रहे हैं. वहीं नक्सलियों पर नजर रखने के लिए पुलिस-ुप्रशासन ड्रोन कैमरे की भी मदद ले रहा है.

नक्सल प्रभावित क्षेत्र में वोटिंग बड़ी चुनौती

इस संसदीय सीट के अंतर्गत विधानसभा क्षेत्र कोंटा, दन्तेवाड़ा, बीजापुर और नारायणपुर में सुबह सात बजे से दोपहर तीन बजे तक मतदान होगा. जबकि विधानसभा क्षेत्र बस्तर, चित्रकोट, कोण्डागांव और जगदलपुर में सुबह सात बजे से शाम पांच बजे तक मतदान होगा.

इसे भी पढ़ेंःलोकसभा चुनाव 2019 : 20 राज्यों की 91 सीटों पर पहले चरण की वोटिंग शुरू

Trade Friends

बस्तर लोकसभा क्षेत्र में कुल 13,72,127 मतदाता हैं. जिनमें से 6,59,824 पुरूष और 7,12,261 महिला मतदाता हैं. वहीं 42 ट्रांस जेंडर मतदाता हैं. जो इस सीट के सात उम्मीदवारों के भविष्य का फैसला करेंगे.

बस्तर संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत आठ विधानसभा क्षेत्र आते हैं. जिनमें कुल 1,879 मतदान केन्द्रों पर वोटिंग हो रही है. इन मतदान केन्द्रों में से 741 मतदान केन्द्र अति नक्सल संवदेनशील मतदान केन्द्र के रूप में चिन्हित किया गया है. इसके साथ ही 606 मतदान केन्द्र नक्सल संवेदनशील तथा 227 राजनैतिक संवदेनशील मतदान केन्द्र हैं.

बस्तर संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत 289 मतदान केन्द्रों को अन्य स्थानों पर शिफ्ट किया गया है. अधिकारियों ने बताया कि लोकसभा निर्वाचन के लिए बस्तर संसदीय क्षेत्र में 27 संगवारी मतदान केन्द्र, 32 आदर्श मतदान केन्द्र और नौ दिव्यांग मतदान केन्द्र बनाए गए हैं.

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

राज्य के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने बताया कि नक्सल प्रभावित क्षेत्र में शांतिपूर्ण मतदान संपन्न कराना सुरक्षा बलों के लिए चुनौती का काम है. क्षेत्र में नक्सलियों ने चुनाव बहिष्कार की घोषणा की है तथा मंगलवार को उन्होंने बारूदी सुरंग में विस्फोट कर दंतेवाड़ा क्षेत्र के भाजपा के विधायक भीमा मंडावी, वाहन चालक और तीन सुरक्षा कर्मियों की हत्या कर दी थी.

अधिकारियों ने बताया कि क्षेत्र में शांतिपूर्ण मतदान के लिए लगभग 80 हजार जवानों को तैनात किया गया है. इनमें से 50 हजार अर्ध सैनिक बल के जवान क्षेत्र में पहले से ही मौजूद हैं. वहीं केंद्र से भी चुनाव के लिए बलों को यहां भेजा गया है.

इसे भी पढ़ेंःबिहार : चार लोकसभा व एक विधानसभा सीट के लिए मतदान शुरू, सुरक्षा के…

सात कैंडिडेट के बीच मुकाबला

बस्तर लोकसभा सीट के लिए कुल सात उम्मीदवार चुनाव मैदान में है. लेकिन मुख्य मुकाबला कांग्रेस के दीपक बैज और भाजपा के बैदूराम कश्यप के बीच ही होने की संभावना है.

बैज चित्रकोट विधानसभा सीट से कांग्रेस के विधायक हैं जबकि कश्यप पूर्व विधायक हैं. भारतीय जनता पार्टी ने मौजूदा सांसद दिनेश कश्यप की टिकट काटकर बैदूराम पर भरोसा जताया है. दिनेश कश्यप राज्य के उन सभी 10 सांसदों में शामिल है, जिनकी टिकट भाजपा ने काट दी है.

बस्तर सीट पर बीजेपी का रहा है कब्जा

बस्तर सीट पर भाजपा का वर्ष 1998 से कब्जा है. बस्तर लोकसभा सीट के अंतर्गत आठ विधानसभा सीट है. वर्ष 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने सात सीट पर जीत हासिल की थी.

SGJ Jewellers

वहीं एक सीट दंतेवाड़ा से भाजपा के भीमा मंडावी विजयी हुए थे. मंडावी की मंगलवार को नक्सलियों ने बारूदी सुरंग में विस्फोट कर हत्या कर दी थी.

kanak_mandir

बस्तर लोकसभा सीट पर जीत के लिए कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने ताकत झोंक दी है. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने इस क्षेत्र का लगातार दौरा किया था. हालांकि चुनाव की घोषणा के बाद से दोनों पार्टियों के केंद्रीय नेतृत्व ने इस सीट पर कोई भी रैली नहीं की है.

इससे पहले वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में राज्य के 11 लोकसभा सीट में से 10 में जीत हासिल की थी. वहीं कांग्रेस को दुर्ग लोकसभा से ही संतोष करना पड़ा था.

छत्तीसगढ़ की 11 लोकसभा सीटों के लिए तीन चरणों में मतदान होगा. पहले चरण में आज बस्तर लोकसभा सीट के लिए मतदान हो रहा है.

इसे भी पढ़ेंःचुनाव आयोग ने नमो टीवी पर भी रोक लगायी

वहीं दूसरे चरण में 18 अप्रैल को कांकेर, राजनांदगांव और महासमुंद लोकसभा सीट के लिए तथा तीसरे चरण में 23 अप्रैल को रायपुर, बिलासपुर, रायगढ़, कोरबा, जांजगीर चांपा, दुर्ग और सरगुजा लोकसभा सीट के लिए मतदान होगा.

लोकसभा निर्वाचन के दौरान तीन चरणों में राज्य के एक करोड़ 89 लाख 16 हजार 285 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर 166 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे. इसके लिए 15 हजार 365 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like