न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

क्या है रफाल पर उस बातचीत के टेप में जिसे राहुल गांधी सुनाना चाहते हैं

799

New Delhi: कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कांफ्रेंस कर आज ये टेप जारी किया था, जिसमें गोवा के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत पी. राणे और एक अज्ञात व्यक्ति फ़ोन पर रफ़ाल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर बात कर रहे हैं. इस ऑडियो में की गई बातचीत इस प्रकार है:

अज्ञात शख़्स : गुड ईवनिंग सर

विश्वजीत राणे : बॉस गुड ईवनिंग. मैंने आज फ़ोन किया था… 3 घंटे की कैबिनेट मीटिंग थी.

अज्ञात शख़्स : ठीक है

विश्वजीत राणे : इसे गोपनीय रखें

अज्ञात शख़्स : हां… हां…

विश्वजीत राणे : काफ़ी झगड़ा था. आप जातने हैं, काफ़ी झगड़ा था. नीलेश कैबरल ने अपने निर्वाचन क्षेत्र से अधिकांश इंजीनियरों की भर्ती कर डाली, इसलिए हर कोई, जयेश सलगांवकर को लिस्ट मिल गई और उन्होंने उन्हें दिखाई. हर कोई उनसे लड़ रहा था और हर कोई परेशान था क्योंकि भर्ती के मोर्चे पर कोई काम नहीं हो रहा है.

अज्ञात शख़्स :ठीक है

विश्वजीत राणे : बापू अजगांवकर सुदीन धवलीकर से लड़ रहे थे, क्योंकि उनका काम नहीं हो रहा था. इसके अलावा मुख्यमंत्री ने एक दिलचस्प बयान दिया कि रफ़ाल की सारी जानकारी मेरे बेडरूम में मेरे पास है.

अज्ञात शख़्स : आप क्या कह रहे हैं?

विश्वजीत राणे : मैं आपको बता रहा हूं…

अज्ञात शख़्स : हे भगवान

विश्वजीत राणे : वास्तव में आपको इस पर स्टोरी करनी चाहिए और आप मंत्रिमंडल के किसी ऐसे व्यक्ति से, जो आपका नज़दीकी हो, इस बात को चेक करा सकते हैं. क्योंकि ये बात है, आप जानते हैं. उन्होंने जो कहा, कुछ न कुछ है. इसका मतलब है कि वो उनको बंधक बना रहे हैं.

अज्ञात शख़्स :क़सम से

विश्वजीत राणे : उन्होंने कहा कि मेरे बेडरूम में है. यहां ​फ्लैट में. रफ़ाल का एक-एक दस्तावेज़ मेरे पास है.

विश्वजीत राणे : अब या तो वो चाहते हैं कि कोई दिल्ली जाये और उनको बताये या कुछ और, ये पता नहीं. मुझे समझ नहीं आया.

Related Posts

बाबरी विध्वंस की 27वीं बरसीः अयोध्या में सुरक्षा कड़ी, मुजफ्फरनगर में स्कूल बंद

हिंदू और मुस्लिम धार्मिक नेता बाबरी विध्वंस की बरसी को अधिक तवज्जो नहीं देने की बात कर रहे हैं.

अज्ञात शख़्स : हे भगवान

विश्वजीत राणे : मैंने ये बात सिर्फ़ आपको बताई है.

अज्ञात शख़्स :और आप जानते हैं कि 3 घंटे की कैबिनेट मीटिंग का कोई मतलब नहीं था या फिर वहां कोई और बात थी.

विश्वजीत राणे : कुछ भी नहीं. ये दिशाहीन थी. समय की बर्बादी थी.

अज्ञात शख़्स :सर मुझे बताइए. ये आदमी अचानक विधानसभा सत्र में इतनी दिलचस्पी क्यों दिखाने लगा… हमारे विधानसभा अध्यक्ष?

विश्वजीत राणे : क्योंकि उनको लगता है कि आरएसएस उन्हें मुख्यमंत्री बनाने के लिए मदद करेगा

अज्ञात शख़्स :आह अच्छा, अच्छा… वो अपने ही चक्कर में है.

विश्वजीत राणे : वो अपने ही चक्कर में है. किसी ने कहा है कि सुदीन का मामला बिल्कुल साफ़ है कि वो समर्थन नहीं कर रहा है. उन्होंने कहा है कि विजय का मामला बिल्कुल साफ़ है कि वो समर्थन नहीं कर रहा है.

विश्वजीत राणे : हे भगवान

विश्वजीत राणे : हमें एक बार मिलने की ज़रूरत है. क्योंकि आपको दिल्ली में कुछ बातों को पहुंचाने की ज़रूरत है. इस पूरे मामले का नतीजा क्या होगा.

अज्ञात शख़्स :आप मुझे बताएं ना सर. जब भी आप मुझे कहेंगे, मैं पहुंच जाऊंगा.

विश्वजीत राणे : मैं आपको बस संक्षेप में बताऊंगा क्योंकि ये केवल उसी दिशा में जाएगा. मेरा रुख़ बिल्कुल स्पष्ट है.

अज्ञात शख़्स : तो सर आप मुझे बताइए. जब भी आप मुझे बुलाना चाहेंगे. मैं वहां पहुंच जाऊंगा.

विश्वजीत राणे : ठीक है… बाय…

इसे भी पढ़ें – राहुल गांधी का राफेल मामले में नरेंद्र मोदी पर बड़ा हमला, कहा- मुझसे सिर्फ 20 मिनट बहस करें पीएम

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like