न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#Parliament का #WinterSession 18 नवंबर से 13 दिसंबर तक, लोकसभा-राज्यसभा सचिवालय को भेजी गयी सूचना

पिछले बुधवार को मंत्रिमंडल की संसदीय मामलों की समिति (सीसीपीए) की बैठक हुई थी. बैठक की अध्यक्षता रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने की थी, जिसमें सत्र की तारीखों पर फैसला हुआ था.

27

NewDelhi : संसद का शीतकालीन सत्र 18 नवंबर से शुरू होगा, जो 13 दिसंबर तक चलेगा . संसदीय कार्य मंत्रालय ने शीतकालीन सत्र के संबंध में संसद के दोनों सदनों के सचिवालय को सूचित किया है. जान लें कि  कि पिछले दो वर्ष शीतकालीन सत्र 21 नवंबर से  शुरू हुआ था और जनवरी के पहले सप्ताह तक चला था.

इससे पहले पिछले बुधवार को मंत्रिमंडल की संसदीय मामलों की समिति (सीसीपीए) की बैठक हुई थी. बैठक की अध्यक्षता रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने की थी, जिसमें सत्र की तारीखों पर फैसला हुआ था. मोदी सरकार के लिए यह सत्र काफी अहम है.

JMM

इसे भी पढ़ें : #NobelLaureate अभिजीत ने कहा, ज्यादा से ज्यादा पैसा पीएम किसान योजना में खर्च करें, मनरेगा की मजदूरी दर बढ़ायें   

दो महत्वपूर्ण अध्यादेशों को कानून बनाने की योजना पर हो रहा काम

खबरों के अनुसार मोदी सरकार इस सत्र में दो महत्वपूर्ण अध्यादेशों को कानून बनाने की योजना पर काम कर रही है.  एक अध्यादेश सितंबर में आयकर अधिनियम, 1961 और वित्त अधिनियम, 2019 में संशोधन के लिए जारी किया गया था. सरकार ने अर्थव्यवस्था को मजबूती देने के लिए नयी और घरेलू निर्माण इकाइयों के लिए कॉर्पोरेट टैक्स की दरें कम की हैं. दूसरा अध्यादेश भी सितंबर में ई-सिगरेटों पर बैन लगाने के लिए जारी किया गया था.

Related Posts

#CitizenshipAmendmentBill2019: संसद में पेश होगा बिल, विरोध में असम बंद, देशभर में प्रदर्शन

नागरिकता विधेयक के खिलाफ गुवाहाटी में नग्न प्रदर्शन, मुख्यमंत्री निवास पर चिपकाए गए पोस्टर

इसे भी पढ़ें :  #Economic Recession : आंकड़ों में हेराफेरी का असर देश की अर्थव्यवस्था को किस रास्ते पर ले जा रहा है

 17वीं लोकसभा के पहले सत्र में रिकॉर्ड 35 विधेयक पारित हुए

सत्रहवीं लोकसभा के पहले सत्र में 37 बैठकों वाले इस सत्र में रिकॉर्ड 35 विधेयक पारित हुए थे. इससे 1952 में बनी पहली लोकसभा के पहले सत्र में 24 विधेयकों को पारित करने का रिकॉर्ड भी टूट गया था. इस सत्र में पारित होने वाले विधेयकों में जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन और तीन तलाक समेत कई अहम बिल शामिल थे.

इसे भी पढ़ें :  #HoneyTrap: हरियाणा सीएम के निजी सचिव को फंसाने की थी साजिश, महिला सहित पत्रकार गिरफ्तार

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like