न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

यशवंत सिन्हा ने बिगाड़ा लोकसभा सीट से महागठबंधन उम्मीदवार की जीत का रास्ता : भुवनेश्वर प्रसाद

2,467

Hazaribagh : झारखंड में पांचवें चरण के तहत छह मई को हजारीबाग लोकसभा में मतदान होने हैं. चुनाव में महज सात दिन बाकी रह गए हैं लेकिन प्रत्याशियों में आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी है.

हजारीबाग से महागठबंधन प्रत्याशी के नाम को लेकर पहले से अफवाहों का बाजार गर्म था. लेकिन कांग्रेस ने अफवाह को विराम देते हुए गोपाल साहू को हजारीबाग से उम्मीदवार बनाया. जिसके बाद उन्होंने 18 अप्रैल को नामांकन दर्ज किया.

महागठबंधन से कांग्रेस उम्मीदवार गोपाल साहू ने कहा कि जयंत सिन्हा को खौफ है कि कांग्रेस से दमदार उम्मीदवार के आने से उनकी परेशानी बढ़ गई है. उन्होंने यह भी कहा कि जयंत सिन्हा की ओर से उन्हें रोकने की कोशिश की गई.

इसे भी पढ़ें- व्हाट्सएप ग्रुप में गलत खबर पोस्ट करने पर जैप 2 का जवान निलंबित

भुवनेश्वर मेहता का यंशवंत सिन्हा पर वार

इधर, सीपीआई के उम्मीदवार भुवनेश्वर मेहता ने यशवंत सिन्हा पर कई आरोप लगाए, उन्होंने कहा कि हजारीबाग में कांग्रेस उम्मीदवार की घोषणा में देरी की वजह यशवंत सिन्हा है.

Bharat Electronics 10 Dec 2019

उन्होंने आरोप लगाया कि यशवंत सिन्हा महागठबंधन से कमजोर उम्मीदवार खड़ा करवा कर अपने बेटे को जीत दिलवाना चाहते थे. सीपीआई को महागठबंधन में जगह नहीं दिए जाने के पीछे भी यशवंत सिन्हा ने अहम भूमिका निभाई है.

इसे भी पढ़ें- जेट एयरवेज की आर्थिक तंगी बनी जानलेवा, कर्मचारी ने चार मंजिला इमारत से कूदकर दी जान

क्या डरे हुए हैं यशवंत सिन्हा

इसकी वजह बताते हुए उन्होंने कहा कि हजारीबाग में बीजेपी को चुनौती देने वाली पार्टी सीपीआई ही थी. सीपीआई ने यशवंत सिन्हा को 2004 में लोकसभा चुनाव हराया था जिस वजह से यशवंत सिन्हा डरे हुए हैं.

गौरतलब है कि हजारीबाग लोकसभा क्षेत्र में कुल 1872 मतदान केंद्र बनाए गए हैं. वहीं 1348445 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like