न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जैश के बालाकोट शिविर का सरगना यूसुफ अजहर भारत में वांछित था

63

New Delhi : भारतीय वायुसेना द्वारा मंगलवार पौ फटने से पहले पाकिस्तान के बालाकोट स्थित जैश ए मोहम्मद के जिस आतंकी शिविर पर हमला किया गया उसका मुखिया यूसुफ अजहर भारत में आईसी-814 विमान अपहरण के सिलसिले में सीबीआइ द्वारा वांछित है. उसके खिलाफ 2000 से ही इंटरपोल रेड कॉर्नर नोटिस लंबित है. अधिकारियों ने यह जानकारी दी.

उन्होंने कहा कि इंडियन एयरलाइंस के विमान को 24 दिसंबर 1999 को काठमांडू से दक्षिणी अफगानिस्तान के कांधार अपहृत कर ले जाने के सात आरोपियों-यूसुफ अजहर, इब्राहिम अतहर, सन्नी अहमद काजी, जहूर इब्राहिम, शाहिद अख्तर, सैयद शाकिर और अब्दुल- के खिलाफ सीबीआइ के अनुरोध पर रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया गया था.  विदेश सचिव विजय गोखले ने पाकिस्थान स्थित बालाकोट में आतंकी समूह के सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर पर “खुफिया सूचना आधारित अभियान” के बारे में मीडिया को जानकारी देते हुए कहा कि इस शिविर का प्रमुख यूसुफ अजहर उर्फ उस्ताद गौरी था.

यूसुफ की ऊर्दू और हिंदी पर अच्छी पकड़

जैश प्रमुख मसूद अजहर का रिश्तेदार यूसुफ अजहर और रौफ कांधार विमान अपहरण मामले के मुख्य साजिशकर्ता थे.  उड़ान संख्या 814 में सवार 154 बंधक यात्रियों की रिहाई के बदले भाजपा के नेतृत्व वाली तत्कालीन राजग सरकार ने 31 दिसंबर 1999 को मसूद अजहर और दो दुर्दांत आतंकियों मुश्ताक अहमद जरगर और अहमद उमर सैयद शेख को रिहा किया गया था.  कराची में पैदा हुए यूसुफ की ऊर्दू और हिंदी पर अच्छी पकड़ है वह कई बार मोहम्मद सलीम के नाम का भी अपने लिये इस्तेमाल करता है. माना जाता है कि वह मसूद अजहर का करीबी सहयोगी है. मसूद का संगठन भारतीय सुरक्षा बलों पर उरी और पुलवामा में हुए आतंकी हमले के पीछे था.

Trade Friends

इसे भी पढ़ें :  #Air Strike: भारत की कार्रवाई से राजधानी रांची में जश्न का माहौल, जलाये पटाखे-भारत माता की जय के…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like